मध्‍य प्रदेश के विदिशा जिले में हुए हादसे में अभी तक 13 लोग लापता हैं, जबकि 4 लोगों की मौत हो चुकी है. कल गुरुवार रात को एक कुएं में पानी भरते बच्चे गिरने के बाद उसे बचाने के लिए जमा हुई भीड़ के कारण कुआं ही धस गया. इससे बड़ा हादसा हो गया. ताजा जानकारी के मुताबिक, कल लगभग 20 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है, जबकि 4 लोगों की मौत हो चुकी है. यह कुआं करीब 50 फुट गहरा है और इसमें करीब 20 फुट तक पानी बताया गया है.Also Read - Mandir Ka Video Viral: सावन की पहली सोमवारी पर उज्जैन के महाकाल मंदिर में टला बड़ा हादसा, यूं मची थी भगदड़

विदिशा के गंजबासौदा की घटना पर सीएम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, मैंने और वरिष्ठ अधिकारियों ने सिचुएशन रूम से घटनास्थल का निरीक्षण किया. कल 19 लोगों को निकाल लिया गया था, वो स्वस्थ हैं. राहत कार्य अभी जारी है, 13 लोग लापता हैं. Also Read - Madhya Pradesh में दो रोड एक्‍सीडेंट: भोपाल और सिंंगरौली में 8 लोगों की मौत, 2 घायल

गुरुवार की रात को गंजबासौदा थाना क्षेत्र के लाल पठार गांव में कुएं से पानी निकालते वक्त 13 साल का किशोर गिर गया था, उसे बचाने जमा हुए लोगों की भीड़ के कारण कुआं धसक गया और बड़ी संख्या में लोग पानी में जा गिरे. 20 लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है. वहीं चार लोगों की मौत हो गई है और अब भी कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है. Also Read - मध्य प्रदेश के इन जिलों में बहुत भारी बारिश की संभावना, ऑरेंज अलर्ट जारी

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कुएं में गिरी एक लड़की को बचाते समय यह हादसा हुआ. उसे बचाने के लिए कुछ लोग इस कुएं में उतर गए, जबकि कई लोग उनकी सहायता करने के लिए कुएं की मेड़ पर चारों तरफ से खड़े हो गए. उन्होंने कहा कि इसी बीच, कुएं के आसपास की मिट्टी अचानक धंस गई, जिससे कुएं की मेड़ के आसपास खड़े लोग भी कुएं में गिर गए.

वहीं, इस हादसे में कुएं में गिरने के बाद बचाये गए दो लोगों ने मीडिया से कहा कि कुएं में गिरी एक बच्ची को बचाते समय यह हादसा हुआ. उसे बचाने के लिए कुछ लोग इस कुएं में उतर गये, जबकि करीब 40-50 लोग उनकी सहायता करने एवं देखने के लिए कुएं की मेड़ और छत पर खड़े हो गए. उन्होंने कहा कि इसी बीच, कुएं की छत ढह गई, जिससे करीब 25-30 लोग कुएं में गिर गए.

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार रात करीब 11 बजे बचाव कार्य में लगा एक ट्रैक्टर भी इस कुएं में गिर गया, जिससे चार पुलिसकर्मियों सहित कुछ लोग भी इस कुएं में गिर गए. इनमें से तीन पुलिसकर्मियों एवं कुछ अन्य लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है.

हादसे की जांच के लिए अधिकारी नियुक्‍त
भोपाल और विदिशा रेंज आयुक्त ने कहा, कलेक्टर ने घटना की जांच के लिए अपर ज़िला जनरल अधिकारी को अधिकृत किया है. ये घटना कैसी हुईं और भविष्य में ऐसे घटना न हो इसके लिए क्या कदम उठाये जाने चाहिए? इस विषयों पर अपर ज़िला जनरल अधिकारी जांच कर अपना जांच प्रतिवेदन 1 माह में प्रस्तुत करेंगे.

मृतकों के परिजन को 5-5 लाख की आर्थिक सहायता
मध्य प्रदेश के विदिशा जिले के लाल पठार गांव में कुआं धसकने तीन लोगों की मौत हुई है, इन मृतकों के परिजन को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पांच-पांच लाख की आर्थिक सहायता देने का एलान किया है. वहीं घायलों को 50 हजार रुपए की आर्थिक सहायता व निशुल्क इलाज की सुविधा दी जाएगी. मुख्यमंत्री चौहान ने बताया है कि राज्य शासन ने निर्णय लिया है कि मृतकों के परिवारजनों को पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता और घायलों को 50 हजार रुपए और निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाए.