धार (मध्यप्रदेश): एमपी धार जिले के बाघ कस्बे में एक पुलिस थाने में एक युवक के फांसी लगाकर आत्महत्या किए जाने के मामले में थाना प्रभारी सहित दो पुलिसकर्मियों को रविवार को निलंबित कर दिया गया है. वहीं, शनिवार रात को इस घटना से आक्रोशित लोगों ने बाग थाने का घेराव किया था. रात को ही आसपास के थाना क्षेत्र का पुलिस बल बाग में तैनात कर दिया है.

धार जिले के एसपी बीरेन्द्र सिंह ने रविवार को बताया, ” कल शाम को किसी लड़की से छेड़छाड़ की शिकायत पर पुलिस सोहेब खान (22) को बाघ पुलिस थाने लाई थी. थाने के बाथरूम में इस युवक ने कुछ देर बाद फांसी लगा ली.” उन्होंने कहा कि घटना का पता लगने पर पुलिसकर्मी उसे ईलाज के लिए बड़वानी के एक अस्पताल में ले गए, जहां उसकी शनिवार रात मौत हो गई.

मृतक के चाचा सलाम पठान ने आरोप लगाया है कि सोहेब ने आत्महत्या नहीं की है, बल्कि पुलिस की मारपीट से उसकी मौत हुई है. सलाम का कहना है कि दोषी पुलिसकर्मियों पर हत्या का मामला दर्ज किया जाए.

एसपी सिंह ने बताया कि प्रथम-दृष्टया इस मामले में थाना प्रभारी कमल सिंह पंवार और प्रधान आरक्षक मांगीलाल गोयल की लापरवाही परिलक्षित होने पर दोनों को निलंबित कर दिया गया है तथा इस पूरे मामले की न्यायिक निगरानी में जांच होगी. उन्होंने कहा कि मृतक का पोस्टमार्टम बडवानी अस्पताल में चिकित्सकों के पैनल से करवाया जाएगा.