नई दिल्ली। स्वच्छ भारत अभियान में मध्य प्रदेश ने बाजी मार ली है. स्वच्छता सर्वेक्षण में पहले नंबर पर इंदौर और दूसरे नंबर पर भोपाल है. चंडीगढ़ को तीसरा स्थान मिला है.  स्वच्छता सर्वेक्षण के नतीजे का ऐलान आज शहरी आवास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने किया. नगर निगमों में नई दिल्ली म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन को पहला स्थान मिला है, वहीं ग्रेटर मुंबई सभी राज्यों की राजधानी में अव्वल रहा है. Also Read - अजब-गजब: हाथरस की गैंगरेप पीड़िता वो नहीं जो बतायी जा रही है, जानिए फिर कौन है वो...

विजवाड़ा और मैसुरू का बजा डंका Also Read - Chandigarh Coronavirus Update: चंडीगढ़ में 16 और लोग हुए कोरोना पॉजिटिव, कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 523 हुए

सर्वे की रिपोर्ट के मुताबिक 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में विजयवाड़ा को सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया. वहीं 3 लाख से 10 लाख तक की आबादी वाले शहरों में मैसुरू सबसे स्वच्छ शहर बनकर उभरा है. सरकार की ओर से कहा गया है कि सर्वेक्षण के दौरान 37.66  लाख नागरिकों ने अपना फीडबैक दिया और इसमें 4203 निगमों को शामिल किया गया था. 2017 में सिर्फ 434 निगम शामिल थे. Also Read - Weather Updates: तेज आंधी और गर्जना के साथ देश के इन राज्‍यों में होगी भारी बारिश

झारखंड सर्वश्रेष्ठ राज्य

सर्वेक्षण में झारखंड को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाला राज्य चुना गया. उसके बाद महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ का स्थान रहा. पिछले सर्वेक्षणों की तुलना में इस बार आम नागरिकों से मिली प्रतिक्रिया को खासा महत्व दिया गया था. इंदौर पिछले साल भी सबसे स्वच्छ शहर चुना गया था. उस समय सिर्फ 430 शहरों के लिए सर्वेक्षण कराया गया था लेकिन इस बार करीब 4200 शहरों को शामिल किया गया था.

हरदीप पुरी ने कहा कि सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले शहरों के नाम उस दिन घोषित किए जाएंगे जिस दिन पुरस्कार दिए जाएंगे.