इंदौर: इंदौर के पास महू कस्बे से करीब पांच किलोमीटर दूर स्थित एक फार्म हाउस में नववर्ष की पूर्व संध्या पर मंगलवार शाम एक लिफ्ट के गिरने से एक ही परिवार के छह लोगों की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया. एक लिफ्ट के पलटकर गिरने से उद्योगपति पुनीत अग्रवाल सहित छह लोगों की मौत हो गई. इस हादसे में अग्रवाल की बेटी, दामाद की भी मौत हुई है. लिफ्ट को चौकीदार रिमोट से संचालित कर रहा था.

पुलिस के अनुसार, नव वर्ष के पूर्व संध्या पर मंगलवार को पाथ इंडिया के प्रबंध निदेशक उद्योगपति अग्रवाल अपने परिवार के सदस्यों के साथ पातालपानी स्थिति फार्म हाउस गए थे. वे फार्म हाउस में बने टॉवर की ऊपरी मंजिल पर प्रकृति का नजारा देखने गए. नीचे उतरते समय लिफ्ट का बेल्ट टूट गया और लिफ्ट पलट गई, जिसके कारण लिफ्ट में सवार लोग लगभग 50 फुट नीचे जा गिरे. इस हादसे में उद्योगपति अग्रवाल, बेटी पलक, दामाद पलेकश अग्रवाल, तीन वर्षीय पोते तथा अन्य रिश्तेदार गौरव व उनके बेटे आर्यवीर की मौत हो गई.

महू के एसडीओपी विनोद शर्मा ने बताया कि लिफ्ट गिरने से छह लोगों की मौत गई. ये सभी एक ही परिवार के थे. उन्होंने कहा कि मृतकों की पहचान कारोबारी पुनीत अग्रवाल (53), उनकी बेटी पलक (27), दामाद कल्पेश (28), पौत्र नव अग्रवाल और दो बच्चों आर्यवीर तथा गौरव के रूप में हुई है. इस हादसे में इस परिवार की निधि नाम की महिला गंभीर रूप से घायल हुई है, जिसे इंदौर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हादसे के कारण की जांच की जा रही है।

महू क्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धर्मराज मीणा ने ताया, “इस हादसे में छह लोगों की मौत हुई है, वहीं, एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल है. सभी मृतकों के शवों का पोस्टमार्टम करा दिया गया है.”

पुलिस को जांच में पता चला है कि लिफ्ट को चौकीदार कैलाश रिमोट से संचालित कर रहा था. उद्योगपति अग्रवाल की पत्नी नीचे और बेटा निपुण टॉवर के ऊपरी हिस्से में ही था. वहीं, पुनीत की बहू गर्भवती है और वह घर पर थी.

उद्योग जगत से जुड़े लोगों का कहना है कि पाथ इंडिया के प्रबंध निदेशक पुनीत अग्रवाल की गिनती देश के उन ठेकेदारों में होती है, जिन्हे पीपीपी मॉडल का जनक माना जाता है. सरकारों ने जब पीपीपी मॉडल को स्वरूप दिया तो अग्रवाल जैसे उद्योगपति ही सामने आए थे.