भोपाल: मध्य प्रदेश के कटनी (Katni)जिले की अर्चना केवट आज अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) के अवसर पर खूब सुर्खियां बटोर रहीं हैं. बता दें कि अर्चना केवट ने कुछ मनचलों के साथ लड़ाई कर उन्हें पुलिस केे हवाले किया था. आज अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) के मौके पर अर्चना केवट को एक दिन के लिए कटनी का कलेक्टर (Collector Katni) बनाया गया.Also Read - गुरुग्राम में भी चलेगा बुलडोजर, CM खट्टर के आदेश पर 15 हजार झुग्गियां होंगी जमींदोज

कटनी के मेहगांव से आने वाली अर्चना केवट (Archana Kewat) ने दो मासूम बच्चियों को बदमाश युवकों से बचाया था. बदमाशों ने अर्चना के साथ हाथापाई भी की, लेकिन साहस का मिसाल देते हुए अर्चना बड़े ही निर्भीकता से दोनों बदमाशों को पीटते-पीटते थाना तक लेकर गई. अर्चना के इस साहस को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) और प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने भी सलाम किया था. Also Read - कहानी बुलडोजर की : आजकल राजनीति का चमकता सितारा बने Bulldozer का अविष्कार 118 साल पहले हुआ था, जानें पूरी दास्तां

आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) के मौके पर कटनी के कलेक्टर प्रियंक मिश्रा (Collector Katni Priyank Mishra) ने महिलाओं के सम्मान में अर्चना को एक दिन के लिए कलेक्टर बनाने का निर्णय लिया.  कटनी के कलेक्टर प्रियंक मिश्रा के इस निर्णय का समर्थन करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “इस अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर कटनी के कलेक्टर को इस अच्छी पहल के लिए शुभकामनाएं देता हूं, बेटी अर्चना आज अच्छे से सारा कामकाज संभालना.” Also Read - यूपी में 'बाबा' का बुलडोजर-एमपी में 'मामा' का बुलडोजर, योगी और शिवराज-आखिर क्या है दोनों का ये कनेक्शन

बता दें कि अर्चना पुलिस सब इंस्पेक्टर बनना चाहती हैं और इसके लिए उन्होंने प्रयास भी किया, मगर वह अब तक सफल नहीं हो पाईं हैं. अर्चना ने एक दिन के लिए कलक्टर बनाए जाने पर खुशी का इजहार करते हुए अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं दीं. अर्चना ने कहा कि सभी महिलाओं को साहस के साथ ऐसी विषम परिस्थितियों का सामना करने का संदेश दिया.