नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में एक बार फिर चुनावी सरगर्मियां तेज़ हैं. उप चुनाव को लेकर रानीतिक दल और नेता तैयारियों में लगे हुए हैं. न सिर्फ लोगों से वोट मांग रहे हैं बल्कि एक दूसरे पर सियासी तीर भी खूब चला रहे हैं. सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) पर निशाना साधते हुए कमलनाथ (Kamal Nath) ने कहा कि इतने दिनों तक सत्ता में रहकर झूठ बोले और जब सत्ता चली गई, इसके बाद भी बाज नहीं आये और लगातार झूठ बोल रहे हैं.Also Read - Uttarakhand: जागेश्वर धाम गए थे यूपी के भाजपा सांसद, Video Viral होने के बाद दर्ज हुई FIR

कमलनाथ ने कहा कि मैंने सोचा था कि 15 साल झूठ बोलने के बाद शिवराज जी ने सबक ले लिया होगा, जब 2018 चुनाव में प्रदेश की जनता ने उन्हें घर बैठाया परन्तु वे बाज नहीं आने वाले. वह रोज़ 3 झूठ बोलते हैं. हमने संबल योजना में फर्जी लोगों को हटाया था. Also Read - भारी पुलिस बल को चकमा भाजपा सांसद ने आंबागढ़ किले पर फहराया आदिवासी सफेद झंडा, जानिए मामला

पूर्व सीएम ने कहा कि ये करेंगे 2 हजार लोगों का फायदा और कहेंगे की हमने 20 लाख लोगों का फायदा कर दिया. ये झूठ की राजनीति बहुत हो गई. आने वाले उपचुनाव में मध्य प्रदेश की जनता सच्चाई का साथ देगी, मतदाता बहुत समझदार हैं. Also Read - नाना पटोले ने कहा- केंद्र के खिलाफ 'आजादी' की नई लड़ाई में कांग्रेस का साथ दें युवा, ये एक स्वतंत्रता संग्राम की तरह

मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से इस तरह के आरोपों की सियासत और गरमाई हुई है. तब से और अधिक जब से मध्य प्रदेश विधानसभा में बीजेपी सरकार ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने किसानों का क़र्ज़ माफ़ किया था और 27 लाख किसानों का क़र्ज़ माफ़ किया गया था. इतना स्वीकार किए जाते ही कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधना शुरू कर दिया और कहा कि उस वक़्त बीजेपी ने लगातार झूठ बोला कि कोई कर्ज़ा माफ़ नहीं हुआ. हालाँकि बीजेपी फिर भी सदन से बाहर कहती रही कि आधा अधूरा क़र्ज़ माफ़ किया गया. इसे लेकर राहुल गाँधी ने भी बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा था कि सच्चाई यही है और बीजेपी अब भी लगातार झूठ बोलकर राजनीति करती है.