लखनऊ: मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन की हालत अभी नाजुक बनी हुई है. टंडन का इलाज लखनऊ के मेदांता अस्पताल में चल रहा है. सोमवार सुबह उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने लगी. ऐसे में डॉक्टरों ने तुरंत वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया है. मेदांता अस्पताल के निदेशक राकेश कपूर ने बताया कि अभी मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन की हालत नाजुक है. आयु ज्यादा होने के कारण उनके विभिन्न अंग ढंग से काम नहीं कर पा रहे हैं. उन्हें अभी वेंटिलेटर पर रखा गया है. लगातार वह डॉक्टरों की देखरेख में हैं. पूरा प्रयास है कि वह जल्द स्वस्थ्य हो जाएं. बतादें कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ लालजी टंडन से मिलने अस्पताल पहुंचे थे. इसके बाद उन्होंने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी. Also Read - Vikas Dubey Arrested: ऐसा था मोस्टवांटेड गैंगस्टर का साम्राज्य, हफ्तेभर में हो गया ध्वस्त, जानें कैसे, कब, क्या हुआ

ज्ञात हो कि मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन को बुखार, पेशाब संबंधी समस्या थी. गत 11 जून को सांस लेने में भी तकलीफ होने लगी. ऐसे में उन्हें राजधानी के शहीद पथ स्थित मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. यहां डॉक्टरों ने शनिवार को पहले जांच में यूरेनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन पाया. ऐसे में एंटीबायोटिक की डोज दी गईं. संक्रमण कम होने पर बुखार भी हल्का हुआ. बुखार की वजह से उनकी कोरोना जांच भी हुई. यह रिपोर्ट नेगिटिव आई. Also Read - Kanpur Encounter: विकास दुबे गैंग का हफ्तेभर में हुए खात्मा, कुख्यात गैंगस्टर की उज्जैन से हुई गिरफ्तारी

इसके बाद डॉक्टरों ने रात में ही लिवर की जांच का फैसला किया. इसमें बारीकी से देखने के लिए सीटी गाइडेड प्रोसीजर किया गया. प्रोसीजर के बाद पेट के ओमेंटम से रक्तस्राव होने लगा. यह रक्त पेट में इकट्ठा हो रहा था, जो कि घातक हो सकता था. लिहाजा, डॉक्टरों ने तुंरत ऑपरेशन का फैसला किया.

डॉक्टरों ने बताया कि शनिवार रात उन्हें आइसीयू से ओटी में शिफ्ट किया गया. ऑपरेशन कर ब्लीडिंग बंद की गई. ऑपरेशन के बाद उन्हें कुछ घंटों तक वेंटिलेटर पर रखा गया. इसके बाद सुधार देखकर वेंटिलेटर सपोर्ट हटा लिया गया. अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ़ राकेश कपूर के मुताबिक सोमवार सुबह उनकी हालत बिगड़ गई. सांस लेने में मुश्किल होने लगी. ऐसे में उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया गया. राज्यपाल की हालत गंभीर है, मगर अभी नियंत्रण में है.