नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में एक सड़क हादसे में 12 लोगों की जान चली गई. हादसा सोमवार देर रात उस समय हुआ जब लोग शादी समारोह से वापस लौट रहे थे. इनमें से ज्यादातर एक ही परिवार के थे. उज्जैन-उन्हेल मार्ग पर रामगढ़ फंटे के पास वैन और कार की टक्कर के बाद 11 लोगों ने अपनी जान गंवा दी.हादसे के बाद मुख्यमंत्री ऑफिस ने ट्वीट किया, देर रात नागदा- उज्जैन मार्ग पर सड़क दुर्घटना में एक ही परिवार के 12 लोग की मृत्यु हो गई. मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने इस घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है. उन्होंने ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति और पीड़ित परिवार को दुख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है.

हादसे वाली जगह पर मौजूद रहे पीपलीनाका निवासी दीपक कायत ने बताया, मैं बस में वैन के पीछे चल रहा था, तभी देखा कि टर्न के पास ही सामने से आ रही एक तेज रफ्तार टाटा हैक्सा ने मारुति वैन में टक्कर मार दी. वैन 50 फीट दूर जा गिरी. हम लोग तुरंत वैन के पास पहुंचे. मौके पर ही वैन में सवार कई लोगों की मौत हो चुकी थी. जबकि जो लोग बच गए थे उनकी हालत गंभीर थी. अन्य लोगों की मदद से घायलों को किसी तरह वैन से बाहर निकालने की कोशिश शुरू की गई. साथ ही पुलिस को सूचना दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों और शवों को अस्पताल पहुंचाया.

हादसे में जान गंवाने वाले अर्जुन कायत बीजेपी के पूर्व मंडल महामंत्री थे. एयरबैग खुलने से दूसरी कार में सवार लोगों की जान बच गई. पुलिस के मुताबिक हादसे में वैन सवार लोगों की ही मौत हुई है, जबकि जिस कार से वैन टकराई उसमें सवार लोग पूरी तरह सुरक्षित हैं. हादसे में जान गंवाने वाले सभी लोग उज्जैन के तिलकेश्वर नगर कॉलोनी व नगर कोट के निवासी थे. मरने वालों के नाम राधिका (7 साल), बुलबुल (20 साल), कुलदीप (24 साल), राजूबाई (45 साल), रवीना (22 साल), सलोनी (13 साल), धर्मेंद्र (38 साल), सिद्धि (2 साल), शुभम (20 साल) तीजाबाई (55 साल) और चंचल (22 साल) हैं.