भोपाल: कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए मध्य प्रदेश के 21 पूर्व विधायक शनिवार रात विशेष विमान से भोपाल पहुंच गए. इसके पहले कांग्रेस के बागी इन 21 पूर्व विधायकों ने नई दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की. एक बागी पूर्व विधायक पारिवारिक कारणों से भाजपा की सदस्यता नहीं ले सका. भाजपा की सदस्यता लेने के बाद 21 पूर्व विधायक शनिवार रात विशेष विमान से यहां पहुंचे. इन विधायकों में गोविंद सिंह राजपूत, प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी, तुलसी सिलावट, प्रभुराम चौधरी, महेंद्र सिंह सिसोदिया, एंदल सिंह कंसाना, रघुराज सिंह कंसाना, गिरराज दंडौतिया, कमलेश जाटव, ओ.पी. एस. भदौरिया, रणवीर जाटव, मुन्ना लाल गोयल, रक्षा संतराम सिरौनिया, जसवंत जाटव, जसपाल सिंह जज्जी, बृजेंद्र सिंह यादव, बिसाहू लाल सिंह, मनोज चौधरी, राजवर्धन सिंह, हरदीप सिंह डंग शामिल हैं. जबकि एक पूर्व विधायक सुरेश धाकड़ पारिवारिक कारणों से भाजपा की सदस्यता नहीं ले सके. Also Read - मध्य प्रदेश में 'टोटल लॉकडाउन' के बाद लागू हुआ 'एस्मा', शिवराज सिंह चौहान ने दी जानकारी

भाजपा में शामिल होकर भोपाल पहुंचे इन पूर्व विधायकों के स्वागत की कोई तैयारी नहीं रही, क्योंकि कोरोनावायरस के बढ़ते प्रभाव के कारण सार्वजनिक समारोहों पर रोक है. इन सभी नेताओं की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे, क्योंकि ये बागी अपनी सुरक्षा को लेकर लगातार चिंता जताते आ रहे हैं. Also Read - केंद्र सरकार पर कांग्रेस का आरोप, डर कर बदला दवा देने का फैसला, 1971 में इंदिरा गांधी ने दिया था करारा जवाब

ज्ञात हो कि पिछले दिनों कांग्रेस के 22 विधायकों ने बगावत कर मध्य प्रदेश विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. इनमें से छह का पहले और 16 का बाद में इस्तीफा मंजूर किया गया. इस तरह सभी 22 बागियों का इस्तीफा मंजूर किए जाने के बाद कांग्रेस की सरकार अल्पमत में आ गई. सुप्रीम कोर्ट के बहुमत परीक्षण के निर्देश के बाद कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. ये सभी बागी पूर्व विधायक इससे पहले बेंगलुरू में डेरा डाले हुए थे. Also Read - Coronavirus: Coronavirus: तबलीगी जमात इवेंट से लौटा, परिवार के 8 सदस्‍य संक्रमित हुए

(इनपुट आईएएनएस)