नई दिल्ली: मध्य प्रदेश की 230 सदस्यीय विधानसभा सीटों के लिए बुधवार को मतदान जारी है. इस बीच चंबल क्षेत्र के कुछ स्थानों से छिटपुट हिंसा की खबरें आ रही हैं. मतदान के शुरुआती पांच घंटे में लगभग 26 फीसदी मतदान हुआ है. वहीं, बड़ी संख्या में ईवीएम के खराब होने पर उन्हें बदला गया है. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, तीन मतदान केंद्रों पसरवाड़ा, लांजी और बैहर में सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ और शेष 227 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ. शुरुआती पांच घंटों में 26 प्रतिशत मतदान हुआ है.

मतदान के दौरान भिंड जिले के कुछ मतदान केंद्रों में तोड़फोड़ और हिंसा की खबरें आ रही हैं. वहीं भिंड के तीन विधानसभा क्षेत्रों भिंड, लहार, अटेर के सभी उम्मीदवारों को जिला मुख्यालय में नजरबंद किया गया है. सीईओ कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, शुरुआत के पांच घंटों में पांच करोड़ चार लाख मतदाताओं में से एक करोड़ 26 लाख से अधिक मतदाता मतदान कर चुके थे. इनमें 69 लाख पुरुष और 59 लाख से अधिक महिला मतदाता हैं.

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वी.एल कांताराव ने माना कि प्रदेश में 100 ईवीएम मशीनें गड़बड़ी के चलते बदली गई. इन मशीनों को आधा घंटे के भीतर बदल दिया गया. राज्य में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. केंद्रीय सुरक्षाबलों की 650 कंपनियां तैनात की गई हैं. इसके अलावा सुरक्षा के लिए हेलीकॉप्टर भी उपयोग में लाए जा रहे हैं.

वहीं कांग्रेस के सीनियर नेता के वोटिंग के बाद पंजा दिखाने पर बवाल हो गया है. हालांकि उन्होंने सफाई दी कि जब लोगों ने उनसे पूछा कि मैंने किसे वोट दिया तो मैंने अपना हाथ दिखाया. इससे अलग मैं क्या करता, क्या मैं कमल दिखाता? दरअसल,कांग्रेस के हाथ दिखाने के कारण बीजेपी ने चुनाव चिन्ह दिखाने की शिकायत की थी.