भोपाल. मध्यप्रदेश में इसी माह होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने 155 उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी कर दी है. कांग्रेस ने शनिवार की रात को अपनी पहली सूची जारी की. इस सूची में 155 उम्मीदवारों के नाम हैं. कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी को भोजपुर, पूर्व सांसद सज्जन वर्मा को सोनकक्ष, विजय लक्ष्मीसाधो को महेश्वर, लक्ष्मण सिंह को चाचौड़ा से मैदान में उतारा है. गौरतलब है कि इस चुनाव के लिए कांग्रेस ने सिर्फ उन्हीं उम्मीदवारों को टिकट दिया है जिनकी छवि आम जनता के बीच अच्छी है. साथ ही बाहर से लाए गए प्रत्याशियों यानी पैराशूट कैंडिडेट को भी विधानसभा चुनाव की पहली सूची में स्थान नहीं दिया गया है.

बुंदेलखंड में अपने मठाधीशों से डरी भाजपा, प्रत्‍याशियों की पहली लिस्‍ट में कई नाते-रिश्‍तेदारों के नाम

कांग्रेस ने युवा चेहरों के तौर पर युवक कांग्रेस अध्यक्ष कुणाल चौधरी को कालापीपल, एनएसयूआई अध्यक्ष विपिन वानखेड़े को आगर से, विक्रांत भूरिया को झाबुआ, सुनील सराफ को कोतमा से उम्मीदवार बनाया है. कांग्रेस की सूची में कुछ प्रमुख विधानसभा क्षेत्रों से उम्मीदवार के नामों की घोषणा नहीं की गई है. इन सीटों में भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय की सीट महू और पूर्व सीएम बाबूलाल गौर की पारंपरिक सीट गोविंदपुरा शामिल है. अलबत्ता पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के बेटे को राघोगढ़ से टिकट मिला है.

5 राज्यों के चुनावी मौसम में गो-भक्त से मुलाकात, पढ़िए हरिशंकर परसाई का मशहूर व्यंग्य

5 राज्यों के चुनावी मौसम में गो-भक्त से मुलाकात, पढ़िए हरिशंकर परसाई का मशहूर व्यंग्य

हमारी सहयोगी वेबसाइट जीन्यूज.कॉम के अनुसार कांग्रेस ने इस बार विधानसभा चुनाव के मैदान से बाहुबली उम्मीदवारों को भी दूर रखने का फैसला किया है. संभवतः यही वजह रही कि प्रत्याशियों की पहली सूची जारी होने में काफी देर हुई. पार्टी सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस ने इस बार के चुनाव में सिर्फ उन्हीं लोगों को प्रत्याशी बनाने का निर्णय लिया है, जिनकी जनता में अच्छी छवि है. जनता के बीच लोकप्रिय पार्टी कार्यकर्ताओं को टिकट देकर कांग्रेस, भाजपा के खिलाफ लोगों में फैली नाराजगी को भुनाना चाहती है. आपको बता दें कि मध्यप्रदेश विधानसभा का चुनाव इसी महीने के आखिरी हफ्ते में 28 नवंबर को होना है. प्रदेश की 230 सदस्यीय विधानसभा में सत्तारूढ़ भाजपा को कड़ी टक्कर देने के लिए कांग्रेस के आला नेता इस बार एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए हैं.

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव की खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com