Madhya Pradesh By Election: मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Uma Bharti) ने कहा है कि राज्य में हो रहे उप-चुनाव राष्ट्रवाद और राष्ट्रविरोधियों के बीच का चुनाव है. भिंड जिले के मेहगांव व गोरमी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में जनसभा को संबोधित करते हुए उमा भारती ने कहा कि 28 विधानसभा क्षेत्रों में हो रहे उपचुनाव सत्य और असत्य के बीच का चुनाव है. एक तरफ भाजपा है, जिसने मध्यप्रदेश का विकास किया और दूसरी तरफ मध्यप्रदेश में अंधकार करने वाली और विनाश करने वाली कांग्रेस है. उन्होंने कहा, “यह उपचुनाव सरकार बनाने का नहीं, एक मजबूत सरकार चलाने का चुनाव है. इसलिए आप सोच-समझकर उस पार्टी को वोट दें जो राष्ट्रवाद से प्रेरित हों. यह चुनाव राष्ट्रवाद और राष्ट्र विरोधियों के बीच का चुनाव है.”Also Read - भारत में 2 सालों में पेड़, वन क्षेत्र में 2261 वर्ग KM की बढ़ोतरी हुई : ISFR Report

उमा भारती ने कहा कि भाजपा के लिए सत्ता सेवा का माध्यम है. पं. दीनदयाल के एकात्म मानव दर्शक को मंत्र मानकर केंद्र की मोदी सरकार एवं प्रदेश की शिवराज सिंह सरकार गरीब, किसान, असहाय, युवा, महिलाओं और बुजुर्गो को लाभ पहुंचाने के लिए कार्य कर रही है. 15 महीने प्रदेश में रही कमल नाथ सरकार ने गरीबों से उनके हक छीने और जनकल्याणकारी योजनाएं बंद कर दी. उन्होंने कहा, “इस चुनाव में एक तरफ वह लोग हैं, जिन्होंने 15 वर्ष तक सेवा की और दूसरी तरफ कांग्रेस के वह लोग हैं, जिन्होंने 15 महीने तक प्रदेश को लूटा. आप लोगों का फर्ज है कि ऐसी सरकार और ऐसे जनप्रतिनिधि को चुनें जो सुख-दुख में आपके साथ खड़ा हो.” Also Read - 50% कैपसिटी के साथ चलते रहेंगे स्‍कूल, फिलहाल नहीं होंगे बंद: सीएम शिवराज सिंह चौहान

अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्य ने कहा कि कांग्रेस हमेशा से अनुसूचित जाति वर्ग से झूठ बोलती आई है. गरीबी हटाओ का नारा दिया, लेकिन गरीबी हटाने की बजाय अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़ा वर्ग का दमन किया. कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में अपने वचन पत्र में जो वादे किए थे. वह उनसे मुखर गई, न तो किसानों का दो लाख तक का कर्जा माफ किया और न ही प्रदेश युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दिया. Also Read - Covid Update: Mask नहीं लगाने वालों पर इस राज्य में सख्ती, अब नहीं मिलेगा पेट्रोल-डीजल