नई दिल्ली. मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के परिणाम अपने पक्ष में आते देखकर कांग्रेस पार्टी ने देर रात राज्यपाल से मिलने का समय मांगते हुए सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने इस बाबत राज्यपाल को पार्टी की ओर से चिट्ठी भेजी है. पार्टी ने राज्यपाल को यह चिट्ठी फैक्स की है, साथ ही ई-मेल भी किया है. बता दें कि बीते दिनों जम्मू एवं कश्मीर में पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल के पास सरकार बनाने का दावा पेश करने को लेकर चिट्ठी भेजी थी. लेकिन राजभवन की ओर से कहा गया कि फैक्स मशीन खराब होने की वजह से चिट्ठी नहीं मिली. इस बीच जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने विधानसभा भंग कर दी. इसको लेकर मचे सियासी बवाल के बाद विपक्षी पार्टियों ने राज्यपाल पर दिल्ली के पक्ष में काम करने का आरोप लगाते हुए, विधानसभा भंग करने के फैसले की आलोचना की थी. इसी सियासी घटना से सबक लेते हुए कांग्रेस ने मंगलवार की देर रात मध्यप्रदेश के राज्यपाल को सरकार बनाने का दावा करने वाला पत्र न सिर्फ फैक्स किया, बल्कि ई-मेल भी कर डाला. यह गौरतलब है कि मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के आखिरी नतीजों की घोषणा अभी नहीं की गई है.

सरकार बनाने का दावा पेश करने वाले पत्र में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने राज्यपाल को संबोधित करते हुए कहा है कि 28 नवंबर को हुए चुनाव के लिए 11 दिसंबर को मतों की गिनती हुई. मतगणना के दौरान कांग्रेस पार्टी प्रदेश की सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरकर सामने आई है. कमलनाथ ने अपने पत्र में कहा है, ‘बतौर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मैं आपसे आज ही देर रात मिलने की अनुमति चाहता हूं, ताकि चुनाव परिणामों की घोषणा के बाद जल्द से जल्द आप मध्यप्रदेश में हमारी पार्टी को सरकार गठन करने की अनुमति दें. मैं आपकी त्वरित प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा में हूं.’

मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने राज्यपाल को भेजे गए अपने पत्र में उन्हें फैक्स और ई-मेल करने की जानकारी भी दी है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने पत्र में कहा है, ‘हम इस पत्र को ई-मेल से भी आपको प्रेषित कर रहे हैं. साथ ही जितनी जल्दी हो सके इस पत्र की एक कॉपी आपको निजी तौर पर पहुंचाने की भी कोशिश कर रहे हैं.’ बता दें कि रात साढ़े 11 बजे तक मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव की मतगणना का काम जारी है. ताजा रुझानों के मुताबिक कांग्रेस ने जहां 78 सीटों पर जीत हासिल कर ली है, वहीं 36 सीटों पर पार्टी के उम्मीदवार बढ़त बनाए हुए हैं. वहीं, भाजपा को भी 78 सीटों पर जीत मिली है, जबकि 31 सीटों पर पार्टी के प्रत्याशी आगे हैं. इसके अलावा बसपा 2 सीटों पर आगे है. समाजवादी पार्टी के खाते में एक सीट आई है. वहीं निर्दलीय उम्मीदवारों ने 3 सीटों पर जीत हासिल की है, जबकि एक सीट पर आगे चल रहे हैं.