भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साले संजय सिंह मसानी कांग्रेस उम्मीदवार के तौर पर बालाघाट के वारा-सिवनी विधानसभा क्षेत्र से तीसरे स्थान पर चल रहे हैं. यहां मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और निर्दलीय उम्मीदवार के बीच चल रहा है. Also Read - उत्तराखंड पंचायत चुनाव-2019: आज आएंगे नतीजे, 89 केंद्रों पर मतगणना जारी, 30,000 से ज्यादा प्रत्याशियों का होगा फैसला

Also Read - लोकसभा चुनाव की मतगणना की तैयारियां पूरी, 542 सीटों के नतीजे देर शाम तक आ सकते हैं

मुख्यमंत्री चौहान के साले संजय मसानी ने चुनाव से पहले भाजपा छोड़कर कांग्रेस की सदस्यता ली थी और कांग्रेस ने उन्हें चुनावी मैदान में उतारा था. यहां मुख्य मुकाबला भाजपा के डॉ. योगेंद्र निर्मल और कांग्रेस के बागी निर्दलीय उम्मीदवार प्रदीप जायसवाल के बीच देखने को मिल रहा है. चुानाव आयोग से मिली जानकारी के अनुसार, यहां भाजपा के उम्मीदवार डॉ. निर्मल निर्दलीय उम्मीदवार से आगे बने हुए हैं. वहीं मसानी तीसरे नंबर पर बने हुए हैं. उधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधनी विधानसभा क्षेत्र से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी अरुण यादव से आगे चल रहे हैं. Also Read - विपक्ष को झटका, मतगणना से पहले नहीं होगा वीवीपीएटी पर्चियों का मिलान

Madhya Pradesh Election Results 2018: रुझानों में शिवराज सरकार के कई मंत्री पिछड़े

शिवराज सरकार के मंत्री नरोत्तम मिश्रा भी पीछे

शिवराज सरकार के मंत्री नरोत्तम मिश्रा, जयभान सिंह पवैया, जयंत मलैया, रुस्तम सिंह, लाल सिंह आर्य, रामपाल सिंह अपने-अपने प्रतिद्वंद्वी से पीछे चल रहे हैं. कांग्रेस के दिग्गज सुरेश पचौरी पिछड़े हुए हैं. राज्य में पहले डाक मतपत्रों की गिनती हुई और उसके बाद ईवीएम की गिनती शुरू हुईं. रुझान जो सामने आए हैं, उसमें शुरू से कड़ी टक्कर है, कांग्रेस को यहां 112 सीटो पर बढ़त है. वहीं, भाजपा 102 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं. इसके अलावा 14 सीटों पर अन्य आगे चल रहे हैं.

Madhya Pradesh Election Results: शहपुरा, डिण्डोरी, बिछिया, निवास, मंडला, केवलारी, लखनादौन, गोटेगांव में कहीं कांग्रेस तो कहीं BJP आगे

मतपत्रों से हुई मतगणना की शुरुआत

राज्य में मतगणना की शुरुआत डाक मतपत्रों से हुई. डाक मतपत्रों की गिनती पूरी हुई. राज्य में 2,899 उम्मीदवारों के भाग्य का आज फैसला होने वाला है. सुरक्षा के पुख्ता इंतजामों के बीच मतगणना हो रही है. राज्य के 51 जिला मुख्यालयों के 230 विधानसभा क्षेत्रों के मतों की गिनती हो रही है. 230 प्रेक्षकों की मौजूदगी में 306 हॉल में मतगणना हो रही है. इनमें 3,220 टेबलें मतगणना के लिए लगाई गई है. 230 विधानसभा क्षेत्रों में से कुछ में मतगणना का एक राउंड पूरा हो चुका है जबकि अधिकांश में दो राउंड पूरे हो गए हैं.