दतिया: उपचुनाव के लिए अपने पार्टी के उम्मीदवार के पक्ष में चुनाव प्रचार के दौरान मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो चुकी अपने मंत्रिमंडल की तत्कालीन महिला के लिए ‘आइटम’ शब्द का उपयोग कर रहे हैं. इस बयान पर भाजपा ने कमलनाथ को सामंतवादी सोच वाला व्यक्ति बताकर उन्हें घेरना शुरू कर दिया है. गौरतलब है कि राज्य की 28 विधानसभा सीटों पर तीन नवंबर को उपचुनाव होना है. Also Read - बीजेपी से पहले से ही सांठगांठ, मायावती ने खुद ही खोली अपनी पोल: समाजवादी पार्टी

इमरती देवी के खिलाफ डबरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के लिए चुनाव प्रचार करते हुए कमलनाथ ने रविवार को कहा, ‘‘डबरा से सुरेश राजे जी हमारे उम्मीदवार हैं. सरल स्वभाव के, सीधे-सादे हैं. ये तो उसके जैसे नहीं हैं. क्या है उसका नाम?’’ इसी बीच वहां मौजूद जनता जोर-जोर से ‘इमरती देवी’, ‘इमरती देवी’ कहने लगती है. Also Read - बिहार की लेडी सिंघम कही जाती हैं लिपि सिंह, मुंगेर हिंसा के बाद सुर्खियों में छायी हैं, जानिए

इसके बाद कमलनाथ ने हंसते हुए कहा, ‘‘मैं क्या उसका (डबरा की भाजपा प्रत्याशी) नाम लूं. आप तो उसको मेरे से ज्यादा पहचानते हैं. आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था. ये क्या आइटम है? ये क्या आइटम है?’’ इस पर वहां मौजूद जनता ने खूब तालियां बजाई और कमलनाथ हंसते हुए मंच से दोहराते रहे, ‘‘ये क्या आइटम है? सुरेश राजे जी का साथ दीजिएगा.’’ Also Read - मनोज तिवारी के हेलीकॉप्टर में आई तकनीकी खराबी, पटना में हुई इमरजेंसी लैंडिंग

इस पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ पर पलटवार करते हुए कहा कि एक महिला के लिए कमलनाथ ने ‘आइटम’ जैसे शब्द का उपयोग कर अपनी सामंतवादी सोच फिर उजागर कर दी है. चौहान ने ट्वीट किया, ‘‘कमलनाथ जी! इमरती देवी उस गरीब किसान की बेटी का नाम है जिसने गाँव में मजदूरी करने से शुरुआत की और आज जनसेवक के रूप में राष्ट्रनिर्माण में सहयोग दे रही हैं. कांग्रेस ने मुझे ‘भूखा-नंगा’ कहा और एक महिला के लिए आपने ‘आइटम’ जैसे शब्द का उपयोग कर अपनी सामंतवादी सोच फिर उजागर कर दी.’’

उन्होंने आगे लिखा, ‘‘खुद को ‘मर्यादा पुरुषोत्तम’ बताने वाले ऐसी ‘अमर्यादित भाषा’ का प्रयोग कर रहे हैं? नवरात्रि के पावन पर्व पर देश नारी की उपासना कर रहा है, ऐसे में आपके बयान से आपकी ओछी मानसिकता झलकती है. बेहतर होगा कि आप अपने शब्द वापिस लें और इमरती देवी सहित प्रदेश की हर बेटी से माफी माँगें.’’

वहीं, मध्य देश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि आज ग्वालियर जिले के डबरा में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक सभा को संबोधित करते हुए अपनी बातें रखी. उन्होंने अपने भाषण में कहीं भी मंत्री इमरती देवी का नाम तक नहीं लिया.

सलूजा ने कहा कि उन्होंने (कमलनाथ) स्पष्ट रूप से कहा कि मैं किसी का नाम नहीं लेता. उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि ‘यह क्या आइटम है.’ इन शब्दों में भी कहीं भी इमरती देवी का नाम तक नहीं है, लेकिन मुद्दा विहीन भाजपा फुर्सत में बैठी भाजपा चालू हो गई कि मंत्री इमरती देवी को ‘आइटम’ बता दिया.

उन्होंने कहा कि लेकिन भाजपा खुद इमरती देवी के नाम के साथ ‘आइटम’ शब्द जोड़ कर ना सिर्फ नारी जाति का अपमान कर रही है बल्कि मंत्री इमरती देवी का भी अपमान कर रही है. इसके लिए भाजपा को माफी मांगना चाहिए.

सलूजा ने बताया, ‘‘वैसे भी आइटम शब्द के कई अर्थ होते हैं लेकिन भाजपा की सोच में ही खोट है . इसीलिए वह आइटम शब्द की गलत व्याख्या कर रही है और उसे झूठा इमरती देवी से जोड़ रही है. यह उसी प्रकार है जैसे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने कभी शिवराज जी को नालायक नहीं कहा, लेकिन भाजपा चालू हो गई कि शिवराज जी को नालायक कहा और कमलनाथ जी माफी मांगे.’’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा की चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज करायेगी.