नयी दिल्ली: कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने मंगलवार को कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिए विचारधारा मायने नहीं रखती है और दावा किया कि ‘राजनीतिक सुविधा’ तथा व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा ने पार्टी छोड़ने के उनके फैसले में एक अहम भूमिका निभाई. चौधरी ने आरोप लगाया कि भाजपा द्वारा पेशकश किये गये किसी तरह के प्रलोभन ने सिंधिया को कांग्रेस छोड़ कर जाने के लिए राजी किया. Also Read - दिग्विजय सिंह अमर्यादित भाषा वाले आ रहे कॉल्‍स से हुए परेशान, बंद किया मोबाइल फोन

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लिये यह दुखद खबर है क्योंकि ज्योतिरादित्य सिंधिया को बरसों तक पार्टी ने सींचा था. लोकसभा में कांग्रेस के नेता चौधरी ने कहा कि पार्टी ने उन्हें महत्वपूर्ण काम सौंपे थे. लेकिन अब इस तरह की स्थिति है कि उन्होंने दूसरी पार्टी में जाना ज्यादा सुविधापूर्ण पाया. गौरतलब है कि कांग्रेस को एक जोरदार झटका देते हुए सिंधिया ने पार्टी छोड़ दी है और मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार को गिरने के कगार पर ला दिया है. साथ ही, उन्होंने संकेत दिया है कि उनके भाजपा में शामिल होने की संभावना है. Also Read - Coronavirus को लेकर राम गोपाल वर्मा ने किया भद्दा मज़ाक, यूजर्स बोले- थोड़ी तो शरम करो, पुलिस लेगी एक्शन

सिंधिया के लिए विचारधारा मायने नहीं रखती : अधीर रंजन
चौधरी ने दावा किया कि सिंधिया के लिए विचारधारा मायने नहीं रखती है क्योंकि यदि ऐसा कुछ रहता तो वह कांग्रेस छोड़ कर नहीं जाते. उन्होंने कहा कि यह राजनीतिक सुविधा और व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा है, जिसने उनके फैसले में अहम भूमिका निभाई. सिंधिया ने मंगलवार सुबह भाजपा नेता एवं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की, जिसके बाद उन्होंने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर उनसे मुलाकात की. Also Read - कांग्रेस ने सामूहिक पलायन पर सरकार से पूछे सवाल, कहा- गरीबों की जिंदगी मायने रखती है या नहीं