Madhya Pradesh Rajyasabha Elections 2020: कांग्रेस के सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक दिग्विजय सिंह एक बार फिर राज्यसभा सांसद बनने में सफल रहे हैं. दिग्विजय सिंह ने राज्यसभा चुनाव में जीत दर्ज की है. 73 साल के राज्यसभा सांसद ये दूसरा मौका है जब दिग्विजय सिंह राज्यसभा जायेंगे. इसी बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया भी बीजेपी की और से जीतने में सफल हुए हैं. Also Read - 'मैं महाराजा, टाइगर और मामा नहीं और न चाय बेचता हूं, मैं कमलनाथ हूं'

कुछ समय पहले ही लम्बे समय तक कांग्रेस में रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी में शामिल हुए थे. बीजेपी ने उन्हें राज्यसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार बनाया था. इसके साथ ही बीजेपी के सुमेर सिंह सोलंकी को भी जीत मिली है. मध्य प्रदेश में अभी तीन सीटों में मतदान हुए थे. मध्य प्रदेश में 2018 में बनी कांग्रेस सरकार गिर गई थी. ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद करीब दो दर्जन विधायक भी उनके साथ इस्तीफ़ा देते हुए बीजेपी में शामिल हो गए थे. यही नहीं इस सियासी कशमकश में आज बसपा, सपा और निर्दलीय विधायक ने भी बीजेपी के लिए वोट किया. Also Read - ज्योतिरादित्य सिंधिया के निजी सहायक कोरोना संक्रमित, ग्वालियर में चल रहा इलाज

बता दें कि मध्य प्रदेश से राज्यसभा की तीन सीटों के चुनाव के लिये भाजपा ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी को उम्मीदवार बनाया था जिन्हें जीत हासिल हुई है, जबकि कांग्रेस की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और वरिष्ठ दलित नेता फूल सिंह बरैया उम्मीदवार थे. हालांकि कांग्रेस के हाथ केवल एक सीट लगी है. कांग्रेस की तरफ से दिग्वियज सिंह दूसरी बार राज्यसभा जाएंगे. Also Read - मध्य प्रदेश: विभागों के बंटवारे में सिंधिया ने फंसाया ऐसा पेंच कि चकरा गए शिवराज, मामला दिल्ली पहुंचा