नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में विधायक राजेश शुक्ला को समाजवादी पार्टी ने अपने दल से निष्काषित कर दिया है. सपा विधायक राजेश शुक्ला ने राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के लिए वोट किया था. 2018 में जब मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी थी तब सपा ने कांग्रेस को समर्थन दिया था, और तब इसमें सपा विधायक राजेश शुक्ला शामिल थे. Also Read - ज्योतिरादित्य सिंधिया: पहली बार राज्यसभा जाएंगे 'महाराज', जीतने पर बोले- पीएम मोदी और अमित शाह...

अब पाला बदलने पर सपा ने राजेश शुक्ला को पार्टी से निकाल दिया है. राजेश शुक्ला मध्य प्रदेश की बिजावर सीट पर सपा के टिकट चुनाव लड़े और जीते थे. सपा ने कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान किया था. ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार गिर गई और मध्य प्रदेश की राजनीति के समीकरण बदल गए. बीजेपी सरकार बनने पर सपा-बसपा विधायक भी सीएम शिवराज सिंह चौहान के साथ दिखाई दिए. Also Read - मध्य प्रदेश: BJP नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया बने राज्यसभा सांसद, कांग्रेस से दिग्विजय सिंह भी जीते

बता दें कि सपा विधायक के साथ ही बसपा और निर्दलीय विधायक, जो कांग्रेस के साथ थे, उन्होंने भी राज्यसभा चुनाव में बीजेपी को समर्थन दिया है. मध्य प्रदेश के राज्यसभा चुनाव में बीजेपी ने तीन में से दो सीटें जीती हैं. जबकि एक सीट कांग्रेस को मिली है. कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया राज्यसभा सांसद चुने गए हैं. जबकि कांग्रेस से दिग्विजय सिंह को जीत मिली है. Also Read - Rajasthan Rajyasabha Elections 2020: राजस्थान में कांग्रेस ने 2 सीट जीतीं, बीजेपी को मिली एक सीट