भोपाल: कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई ने पांच जिलों की छह इकाइयों की कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है. ये इकाइयां कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले क्षेत्र की हैं. इससे पहले सिंधिया के प्रभाव वाले जिलों के अध्यक्ष भी बदले गए थे. कांग्रेस की प्रदेश इकाई की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, जिला कांग्रेस कमेटी गुना ग्रामीण, गुना शहर, श्योपुर, शिवपुरी, विदिशा और अशोकनगर जिलों की कांग्रेस कमेटियों की कार्यकारिणी तत्काल प्रभाव से भंग कर दी गई हैं.

प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री (प्रशासन) राजीव सिंह ने बताया कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों को नवीन कार्यकारिणी के गठन के लिए पत्र लिखा गया है, जिसमें कहा गया है कि वे जिले के वरिष्ठ कांग्रेसजनों, पदाधिकारियों, निर्वाचित जनप्रतिनिधियों से चर्चा एवं समन्वय स्थापित कर एक सप्ताह के अंदर प्रस्तावित सूची अनुमोदन के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी को प्रेषित करें.Also Read - Uttarakhand Assembly Election 2022: कांग्रेस ने उत्तराखंड के लिए 53 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की, हरिश रावत का नाम नहीं शामिल

इससे पहले, पिछले दिनों ही सिंधिया के प्रभाव वाले क्षेत्रों में शामिल श्योपुर, ग्वालियर ग्रामीण, विदिशा, सीहोर, शिवपुरी, गुना शहर, गुना ग्रामीण और होशंगाबाद के अध्यक्ष बदले गए थे. सिंधिया ने कांग्रेस में रहते हुए जनसेवा में दिक्कत होने की बात कहकर ऐन राज्यसभा चुनाव के समय पार्टी छोड़ दी थी. भाजपा ने पार्टी में शामिल होते ही उन्हें राज्यसभा उम्मीदवार घोषित किया. डॉकडाउन के कारण राज्यसभा चुनाव भी लंबित है. Also Read - UP Election 2022: इन 47 सीटों पर नज़र लगाए हैं प्रमुख राजनीतिक दल, सिर्फ इतने वोटों से हुई थी हार-जीत

Also Read - Assembly Election 2022: यूपी में प्रियंका गांधी होंगी कांग्रेस का मुख्यमंत्री चेहरा? जानें क्या मिला जवाब