झाबुआ (मप्र): झाबुआ जिला मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर दूर थांदला थाना अंतर्गत एक गांव में विवाहेत्तर संबंधों को लेकर ग्रामीणों द्वारा दी गई सजा के कारण एक आदिवासी विवाहित महिला को कथित तौर पर अपने पति को कंधे पर बैठाकर गांवभर में घूमाना पड़ा. घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने पर प्रशासन हरकत में आया और अधिकारी मामले की जांच के लिये गांव में पहुंचे. Also Read - Corona Guidelines for Navratri and Ramadan 2021: यूपी, बिहार से लेकर महाराष्ट्र तक, जानिए इन 6 राज्यों में नवरात्र और रमजान को लेकर क्या हैं नियम?

  Also Read - Covid in MP Update: MP के सीएम ने की जनता से अपील, लॉकडाउन की बजाय, मास्‍क से चेहरा और पैर लॉक हो जाएं

पुलिस अधीक्षक विनीत जैन ने कहा कि देवीगांव की एक घटना प्रकाश में आई है. जिसमें गांव के लोगों ने एक महिला का अनादर करने की कोशिश की है. वीडियो की जांच कर हम आरोपी लोगों के खिलाफ वैधानिक कार्रवाई करेंगे. अतिरिक्त पुलिसी अधीक्षक, एसडीओपी और थाना प्रभारी को पुलिस बल के साथ गांव में भेजा गया है. जांच के बाद आगे कार्रवाई की जायेगी.उन्होंने बताया कि फिलहाल इस मामले में कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है.

शर्मनाक: दलित परिवार की 100 साल की दादी का श्‍मशान गृह में नहीं करने दिया अंतिम संस्‍कार

बताया जा रहा है कि महिला के कथित तौर पर किसी अन्य पुरुष से प्रेम संबंध होने पर उसके ससुराल और गांववालों ने सजा सुनाई जिसकी वजह से महिला को अपने पति को कंधे पर बैठाकर गांव में घूमना पड़ा.