भोपाल के जाने माने पत्रकारिता संस्थान माखनलाल चतुर्वेदी नेशनल यूनिवर्सिटी में अब मास मीडिया की पढ़ाई ही नहीं बल्कि गौशाला भी चलेगी. इस यूनिवर्सिटी के 50 एकड़ वाले नए कैंपस के दो एकड़ जमीन पर गौशाला बनाई जाएगी. Also Read - कोरोना योद्धा डॉ. शुभम उपाध्‍याय के इलाज का पूरा खर्च उठा रही थी सरकार, प्‍लेन से चेन्‍नई ले जाने की थी तैयारी

यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार दीपक शर्मा ने बताया कि ये एक नया प्रयोग है. गौशाला 2 एकड़ जमीन पर बनाई जाएगी. इसके लिए यूजीसी के किसी तरह की अनुमति की जरूरत नहीं होगी. Also Read - 26 साल के युवा डॉक्‍टर ने कोरोना के खिलाफ जंग में तोड़ा दम, अप्रैल में ज्‍वाइन की थी संविदा नौकरी

यूनिवर्सिटी का ये फैसला अपनेआप में इस तरह का पहला फैसला है. आज तक किसी यूनिवर्सिटी में गौशाला नहीं खोली गई है. ये काम राज्य सरकार ही करती है. इसे लेकर विपक्ष सवाल उठा सकता है और सरकार पर हमलावर हो सकता है.

ये खबर ऐसे समय पर आई है जब राजस्थान, छत्तीसगढ़ से गौशाला में गायों की मौत की खबर लगातार सामने आती रही है. कुछ दिनों पहthले ही छत्तीसगढ़ में बीजेपी नेता की गौशाला में ही 200 गायों की मौत हो गई थी. इसके बाद इस नेता को पार्टी से सस्पेंड कर दिया गया था.