Top Recommended Stories

मध्य प्रदेश के कबीर आश्रम में मानसिक रूप से कमजोर कई महिलाओं से रेप, एक ने जन्मा बच्चा

मध्य प्रदेश में बड़ा रेप कांड सामने आया है. इन महिलाओं से सम्बन्ध किसने बनाए, रेप किसने किया, इसकी जांच की जा रही है.

Published: November 25, 2020 7:49 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Zeeshan Akhtar

rape accused boy to life imprisonment

देवास: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के देवास जिले में स्थित कबीर आश्रम (Kabir Ashram Devas) में रहने वाली कई मूक-बधिर महिलाओं के साथ दुष्कर्म (Rape in Kabir Ashram) का मामला सामने आया है. एक महिला तो गर्भवती भी हो गई और उसने बच्चे को जन्म दिया है. पुलिस ने कबीर आश्रम से छह महिलाओं को मुक्त कराया है और उन्हें वन स्टॉप सेंटर भेजा है. स्थानीय प्रशासन का कहना है कि अगर आश्रम में सेवा के बजाय इनके साथ दुष्कर्म हुआ है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी. प्रशासन ने ये भी कहा कि शुरूआती जांच में रेप (Rape) होने की घटना प्रतीत हो रही है. मानसिक रूप से कमजोर इन महिलाओं से सम्बन्ध किसने बनाए, रेप किसने किया, इसकी जांच की जा रही है.

प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार, जामगोद स्थित कबीर आश्रम (Kabir Ashram in Madhya Pradesh) की एक मूक-बधिर महिला गर्भवती हो गई. उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया और उसने बच्चे को जन्म दिया है. मूक-बधिर महिला आखिर गर्भवती हुई कैसे, इस बात का पता लगाने की कोशिश की गई तो पुलिस और प्रशासन के सामने कई तथ्य सामने आए. आश्रम से छह महिलाओं को छुड़ाया गया.

You may like to read

जिलाधिकारी चंद्रमौली शुक्ला ने बताया कि जामगोद गांव में और एक अन्य स्थान पर कबीर आश्रम है. यहां की एक महिला के गर्भवती होने की बात सामने आने पर इंदौर से काउंसिलिंग के लिए विशेषज्ञों का दल बुलाया गया. साथ ही उसे अस्पताल में भर्ती किया गया. वहीं, यह पता करने के लिए कि महिला गर्भवती कैसे हुई, इसके लिए तहसीलदार और महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी को आश्रम भेजा गया. काउंसिलिंग के जो वीडियो हैं वह देखकर प्रारंभिक तौर पर प्रतीत होता है कि इन महिलाओं/लड़कियों के साथ आश्रम में या आश्रम के बाहर कुछ गलत हरकत हुई है.

जिलाधिकारी ने आगे बताया कि पूरा मामला पुलिस के संज्ञान में है और इसकी विस्तृत जांच की जा रही है. वहीं, इन महिलाओं की सुरक्षा हो सके तो उन्हें वन स्टॉप सेंटर में लाया गया है, जहां उनकी लगातार काउंसिलिंग चल रही है. एक मूक-बधिर महिला के गर्भवती होने के खुलासे और अन्य के साथ गलत हरकत की बात सामने आने के बाद से प्रशासन और हर कोई सकते में है. जानकारी के अनुसार, इस आश्रम में मानसिक रूप से बीमार महिलाओं को रखा जाता था. इन महिलाओं के लिए काम किया जाता था. यह आश्रम सेवा कार्य के लिए बनाया गया था. यहां मंदबुद्धि बालिकाओं को आस-पास के गांव के लोग भी छोड़ जाते थे, जिनकी यहां देखभाल की जाती थी.

Also Read:

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें India Hindi की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

By clicking “Accept All Cookies”, you agree to the storing of cookies on your device to enhance site navigation, analyze site usage, and assist in our marketing efforts Cookies Policy.

?>