नई दिल्ली: देशभर में लागू लॉकडाउन के कारण प्रवासी मजदूरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. खाना, रहना, नौकरी जैसी जरूरी समस्याओं से उन्हें जूझना पड़ रहा है. इस कारण कई प्रवासी मजदूर अपने गृह राज्य व अपने घरों की तरफ जाने को मजबूर हैं. लेकिन एक तरफ जहां उन्हें कोरोना से मौत का और संक्रमित होने का खतरा है वहीं दूसरी तरफ देश के कई हिस्सों में ऐसी दुर्घटनाएं देखने को मिलीं जहां सिर्फ प्रवासी मजदूरों की मौते हुई हैं. Also Read - दिल्ली की झुग्गियों में लगी भीषण आग, 250 झोपड़ियां जलकर राख

ऐसी ही दुर्घटना एक बार फिर औरंगाबाद, कानपुर, मुज्जफरनगर के बाद अब मध्य प्रदेश में देखने को मिली है. यहां गुना जिले में एक बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई. इस हादसे में 8 मजदूरों की मौत हो गई जबकि 54 से अधिक लोग घायल हो गए. इस मामले पर पुलिस ने बताया कि बुधवार रात गुणा कैंट थानाक्षेत्र में मजदूरों की बस और एक ट्रक में भिडंत हो गई. इस कारण हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई और 54 से अधिक लोग घायल हो गए. यह सभी लोग महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश की तरफ जा रहे थे. फिलहाल इनका अस्पताल में इलाज किया जा रहा है. Also Read - Covid-19 in Bihar Update: प्रवासियों ने बिहार में तेजी से बढ़ाई संक्रमितों की संख्या, 163 नए मामले

बता दें कि बिहार में भी सड़क हादसे में 2 लोगों की मौत हुई है. आज की बात करें तो बिहार में 2, उत्तर प्रदेश में 6 और मध्य प्रदेश में कुल 8 मजदूरों के मौत की पुष्टि की जा चुकी है. वहीं पहले की घटनाओं पर गौर करें तो महाराष्ट्र के औरंगाबाद में ट्रेन की चपेट में आने के कारण 15 लोगों की मौत हो गई थी. वहीं कानपुर में भी बस दुर्घटना में 2 लोगों की मौत हो गई थी.