होशंगाबाद: मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले के नयागांव में एक चमत्कारी पेड़ को छूने के लिए जुटी भीड़ को रोके जाने से लोग आक्रोशित हो गए और उन्होंने पथराव कर दिया. इस पथराव में बनखेड़ी थाने के प्रभारी एस.एल. झारिया समेत  कई पुलिसकर्मी घायल हो गए. उग्र भीड़ ने कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर एक मोटरसाइकिल को आग के हवाले कर दिया.

होशंगाबाद जिले के बनखेड़ी पुलिस थाने से मिली जानकारी के मुताबिक, “पिपरिया से लगभग 15 किलोमीटर दूर नया गांव में एक महुआ का पेड़ है, जिसे स्थानीय लोग चमत्कारी बता रहे हैं. उनका दावा है कि इसे छूने से बीमारी दूर हो जाती है. इस अंधविश्वास के चलते यहां पिछले कुछ दिनों से भारी भीड़ जमा हो रही थी. प्रशासन ने हालात काबू में रखने के लिए क्षेत्र में निशेधाज्ञा 144 लागू कर दी और पेड़ को छूने आने वालों को रोका.”

पुलिस के मुताबिक, बुधवार को बड़ी संख्या में लोग जमा हुए, उन्हें जब महुए के पेड़ के पास जाने से रोका गया तो वे बेकाबू हो गए और पुलिस पर हमला कर दिया. भीड़ द्वारा फेंके गए पत्थरों से बनखेड़ी के थाना प्रभारी झारिया सहित कई पुलिस जवान घायल हो गए. पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया. भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है.

पुलिस के अनुसार, भीड़ द्वारा किए गए पथराव में कई वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं, वहीं एक मोटरसाइकिल को भीड़ ने आग के हवाले कर दिया. मौके पर भारी पुलिस बल की तैनाती है और महुआ के पेड़ तक लोगों को जाने की अनुमति नहीं है.