Madhya Pradesh, Shajapur, covid-19, coronavirus, Vaccination,  News: मध्‍य प्रदेश ( Madhya Pradesh) में कोरोना वायरस संक्रमण की महामारी के खिलाफ चल रहे अभियान में लापरवाही करने पर स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के 12 कर्मचारियों पर कार्रवाई की गाज गिरी है, जिसमें 2 डॉक्टर ( doctors), 4 स्टाफ और बाकी सहायक स्टाफ शामिल है. इस मामले में तत्कालीन सिविल सर्जन को कारण बताओ नोटिस देकर उनको पद से निष्कासित कर दिया गया है. यह जानकारी शाजापुर (Shajapur) के मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी ने बताई है. Also Read - कोरोना की वैक्सीन से बांझपन और नपुंषकता का है खतरा? जानें क्या है वायरल दावे की सच्चाई

न्‍यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इंजेक्शन वितरण में लापरवाही के मामले में 12 लोगों को सेवा से पृथक कर दिया गया है, जिसमें 2 डॉक्टर, 4 स्टाफ और बाकी सहायक
स्टाफ है. तत्कालीन सिविल सर्जन को कारण बताओ नोटिस देकर उनको पद से निष्कासित किया गया है. Also Read - मशहूर मलयालम गीतकार Poovachal Khader का कोविड से निधन

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के 8,970 नए मामले, 84 लोगों की मौत
मध्य प्रदेश में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 8,970 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल
संख्या 7,00,202 तक पहुंच गई. बुधवार से बीते 24 घंटे में बीमारी से प्रदेश में 84 और लोगों की मौत हो गई, जिसके बाद मरने वालों की संख्या 6,679 हो गई है.
मध्‍य प्रदेश में बुधवार को कोविड-19 के 1597 नए मामले इंदौर में आए, जबकि भोपाल में 1304, ग्वालियर में 492 एवं जबलपुर में 666 नये मामले आए. मध्‍य प्रदेश
में कुल 7,00,202 संक्रमितों में से अब तक 5,83,595 मरीज स्वस्थ हो गए हैं और 1,09,928 मरीजों का इलाज चल रहा है. कोविड-19 के 10,324 रोगी स्वस्थ हुए हैं.