भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा के 28 नवम्बर को होने वाले चुनाव के लिये भाजपा ने शुक्रवार सुबह अपने 177 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी. भाजपा ने वर्तमान सरकार के तीन मंत्रियों और दो दर्जन से अधिक विधायकों को चुनावी रण में फिर से नहीं उतारने का फैसला किया है. इसके अलावा भाजपा ने प्रदेश विधानसभा के तीन निर्दलीय विधायकों को भाजपा के खेमे में लेते हुए उन्हें उनके विधानसभा क्षेत्रों से ही पार्टी का उम्मीदवार घोषित किया है. Also Read - मप्र में कमलनाथ चलाएंगे दागी और करोड़पतियों की सरकार! कांग्रेस के आधे से ज्यादा विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले

Also Read - मप्र: सीएम चुने जाने के बाद कमलनाथ ने ज्‍योतिरादित्‍य को कहा थैंक्‍यू, वादे पूरे करने का दिलाया भरोसा

भाजपा चुनाव समिति के सचिव और केन्द्रीय मंत्री जे पी नड्डा द्वारा शुक्रवार को जारी 177 उम्मीदवारों की पहली सूची के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने गृह जिले सिहोर की बुधनी विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में उतरेंगे. वहीं भाजपा ने पहली सूची में वर्तमान सरकार के तीन मंत्रियों को टिकट नहीं दिया है. भाजपा की इस सूची में प्रदेश की नगरीय प्रशासन मंत्री माया सिंह को ग्वालियर पूर्व से टिकट नहीं दिया गया है. उनके स्थान पर सतीश सिकरवार को पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है. रायसेन जिले की सांची विधानसभा क्षेत्र से प्रदेश के वन मंत्री गौरीशंकर शेजवार को टिकट नहीं देकर उनके बेटे मुदित शेजवार को टिकट दिया गया है. इसके साथ ही एक अन्य मंत्री हर्ष सिंह को टिकट नहीं देकर भाजपा ने उनके बेटे को रामपुर बघेलान सीट से टिकट दिया है. एक अन्य मंत्री ललिता यादव को छतरपुर से टिकट नहीं देकर उनकी सीट में बदलाव करके उन्हें मलेहरा सीट से प्रत्याशी घोषित किया गया है. Also Read - मप्र: सीएम कौन? आज रात ही होगा फैसला, राहुल से मिलकर भोपाल रवाना हुए कमलनाथ और सिंधिया

मध्य प्रदेश चुनाव: राहुल बोले- हमारी सरकार बनी और नहीं पूरा हुआ ये वादा तो 10 दिन में बदल देंगे सीएम

भाजपा ने देवास के लोकसभा सांसद मनोहर ऊंटवाल को विधानसभा के चुनावी रण में उतारते हुए आगर विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है. वहीं खजुराहो लोकसभा क्षेत्र के सांसद नागेन्द्र सिंह को नागौद विधानसभा से उतारा जा रहा है. सागर लोकसभा सीट के सांसद लक्ष्मीनारायण यादव के बेटे सुधीर यादव को सागर जिले की सुरखी सीट से टिकट दिया गया है.

एमपी में बीजेपी को बड़ा झटका, पार्टी छोड़ विधायक, पूर्व एमएलए और किरार नेता कांग्रेस में शामिल

भाजपा ने तीन निर्दलीय विधायकों को अपने खेमे में लेते हुए उन्हें उनकी विधानसभा सीटों से ही भाजपा का टिकट दिया है. आदिवासी बहुल जिले झाबुआ के थांदला से विधायक कलसिंह भाभर, सिहोर से सुरेश राय और सिवनी से दिनेश राय मुनमुन को भाजपा ने टिकट दिया है.

एमपी: शिवराजसिंह चौहान के करीबी मंत्री ने चुनाव लड़ने से की आना-कानी, पत्र हुआ वायरल

सूत्रों के मुताबिक तीन मंत्रियों सहित दो दर्जन से अधिक भाजपा विधायकों के टिकट काटे गये हैं. उन्होंने बताया कि पहली सूची में सबलगढ़, सुमावली, ग्वालियर पूर्व, सेवढ़ा, गुना, सुरखी, टीकमगढ़, पृथ्वीपुर, मलेहरा, हटा, गुन्नोर, रामपुर बघेलान, सिमरिया, त्यौथंर, देवसर, जयसिंह नगर, जुन्नारदेव, आमला, घोड़ाडोंगरी, सांची, विदिशा, आष्टा, आगर, मंधाता, पंधाना, महेश्वर, सरदारपुर और धरमपुरी विधानसभा सीटों से वर्तमान भाजपा विधायकों को टिकट नहीं देकर पार्टी ने नये लोगों को अवसर दिया है.