भोपाल: मध्य प्रदेश की सियासत नजदीक आ रहे विधानसभा चुनावों के मद्देनजर खूब गर्मा रही है और बीते दिनों कांग्रेस नेता कमलनाथ ने सीएम शिवराजसिंह चौहान के बारे में पूछ जाने पर कहा था कि लायक और नालायक दोनों ही उनके दोस्त हैं. लेकिन शनिवार को ईद पर भोपाल के ईदगाह के मैदान पर दोनों नेता मंच पर एक साथ नजर आए और एक-दूसरे से खूब बातें करते हुए नजर आए. खास बात ये है कि राज्य के सीएम चौहान मुस्लिम समाज के कार्यक्रमों में बढ़चढ़कर हिस्सा लेते रहे हैं और उन्हें बीजेपी की ओर आकर्षित करने की कोशिश करते रहे हैं, जबकि कांग्रेस मुस्लिमों को अपना परंपरागत समर्थक मानती है.

कमलनाथ के बयान से गर्माई थी एमपी की सियासत 
बीते माह 6 मई को मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ के एक बयान से सियासत में हलचल मच गई थी. कमलनाथ ने सीएम शिवराजसिंह चौहान के बारे में पूछे गए एक सवाल पर कहा था,”कुछ मित्र लायक तो कुछ नालायक होते हैं।”इस बयान पर शिवराज चौहान ने ट्वीट कर कविता जैसी लाइने लिखकर जवाब दिया था, लेकिन बीजेपी नेताओं ने कमलनाथ से सार्वजनिक तौर पर माफी की मांग की थी.

कमलनाथ ने कहा था- कुछ मित्र लायक तो कुछ मित्र नालायक
कमलनाथ के मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष बनने पर सीएम चौहान ने कमलनाथ को अपना मित्र बताते हुए बधाई दी थी. इसके बाद मीडियकर्मियों ने कमलनाथ से अपने मित्र के बारे में राय जानना चाही तो कमलनाथ का जवाब दिया, “कुछ मित्र लायक तो कुछ मित्र नालायक होते हैं.”

बीजेपी नेताओं ने कमलनाथ से की थी माफी की मांग
भोपाल लोकसभा से बीजेपी सांसद आलोक संजर ने एमपीसीसी के प्रेसिडेंट कमलनाथ से अपनी टिप्पणी के लिए सार्वजनिक माफी की मांग करते हुए इस टिप्पणी को घटिया बताया था.

शिवराज का कविता वाला अंदाज
कमलनाथ के बयान पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कविता के अंदाज में ट्वीट कर जवाब दिया था. मुख्यमंत्री चौहान ने ट्वीट कर कहा था,”हाथों की रेखाएं हमारी भी बहुत खास हैं, तभी तो आप जैसा दोस्त हमारे पास है. जो सबसे हमेशा कहते फिरते हैं, बस कमल ही लायक है. हम सब भी आपकी इज्जत करते हैं और जोर-शोर से दोहराते हैं कि कमल का फूल ही सबसे लायक है, भारतीय जनता ही हमारी नायक है.” (इनपुट- एजेंसी)