नई दिल्‍ली : कांग्रेस ने मध्य प्रद्रेश विधानसभा चुनाव के लिए गुरुवार को अपने उम्मीदवारों की पांचवीं सूची जारी कर दी. पार्टी की ओर से जारी इस सूची में 16 उम्मीदवारों के नाम हैं. इस सूची में सबसे चौंकाने वाला नाम सरताज सिंह का है जो अब तक भाजपा में थे, लेकिन अब कांग्रेस की टिकट पर होशंगाबाद से चुनाव लड़ेंगे.

भाजपा सरकार में मंत्री रह चुके सरताज को उम्र के आधार पर भाजपा के टिकट से वंचित किया गया. इसकी घोषणा होने के थोड़ी देर बाद ही सरताज ने भाजपा छोड़ने की घोषणा कर दी. उन्‍होंने कांग्रेस की सदस्‍यता ग्रहण कर ली और अब पार्टी के टिकट पर होशंगाबाद से चुनाव लड़ेंगे.

भाजपा के पुराने नेताओं में शामिल रहे सरताज को भाजपा की तीसरी लिस्‍ट में अपना नाम होने की उम्‍मीद थी जो गुरुवार दोपहर में जारी की गई. इसमें अपना नाम नहीं देख वे कार्यकर्ताओं के बीच ही रोने लगे. उन्‍होंने कहा कि वे चुप बैठने वाले नहीं हैं. सरताज ने पहले घोषणा की थी कि टिकट नहीं मिलने पर वे निर्दलीय लड़ेंगे लेकिन भाजपा छोड़ने के कुछ घंटे बाद ही उन्‍होंने कांग्रेस की सदस्‍यता ले ली.

बुंदेलखंड के सीनियर कांग्रेस नेता सत्‍यव्रत चतुर्वेदी के बेटे ने भरा समाजवादी पार्टी की ओर से पर्चा, जानें क्‍यों हुए बागी

सरताज होशंगाबाद लोकसभा सीट से कांग्रेस के रामेश्‍वर नीखरा को हराकर तीन बार सांसद चुने गए. 1998 के आम चुनाव में वे राज्‍य के पूर्व मुख्‍यमंत्री और कांग्रेस के दिग्‍गज नेता अर्जुन सिंह को भी पराजित कर चुके हैं. वे अटल बिहारी वाजपेयी की 13 दिन की सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहे हैं. 2008 और 2013 में वे सिवनी मालवा सीट से भाजपा टिकट पर विधायक चुने गए थे.

मप्र: भाजपा की तीसरी लिस्‍ट में कैलाश विजयवर्गीय का नाम नहीं, उनके बेटे और बाबूलाल गौर की बहू को मिला टिकट

कांग्रेस ने इसके साथ ही राज्‍य की 229 विधानसभा सीटों के लिए उम्‍मीदवारों की घोषणा कर दी है. एक सीट (मानपुर) पर अभी उम्मीदवार की घोषणा नहीं की गई है. राज्य में विधानसभा की कुल 230 सीटें हैं. कांग्रेस ने पहली सूची में 155, दूसरी में 16, तीसरी सूची में 13 और चौथी सूची में 29 उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की थी. राज्य में 28 नवंबर को सभी 230 सीटों पर चुनाव होना है.