भोपाल: कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ ने अपनी पार्टी द्वारा महिलाओं को टिकट दिए जाने के सवाल पर विवादित बयान दिया है. उन्होंने कहा कि महिलाओं को टिकट ‘कोटा और सजावट के आधार पर नहीं दिए हैं.’

राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में महिलाओं को टिकट देने में कंजूसी किए जाने के सवाल पर कांग्रेस दफ्तर में सवांददाता सम्मेलन में कमलनाथ ने कहा, “कांग्रेस ने चुनाव जीतने वाली महिलाओं को टिकट दिया है, न कि कोटा और सजावट के आधार पर.” ज्ञात हो कि राज्य के 230 विधानसभा क्षेत्रों के लिए नामांकन भरने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. भाजपा ने 27 और कांग्रेस ने 25 महिलाओं को उम्मीदवार बनाया है.

मध्य प्रदेश: कांग्रेस ने 29 उम्मीदवारों की चौथी सूची जारी की, शिवराज सिंह के साले को भी मिला टिकट

कमलनाथ के बयान पर भाजपा नेता और पूर्व विधायक राजो मालवीय ने आक्रोश भरे अंदाज में कहा कि मध्यप्रदेश में महिलाएं मान-सम्मान से देखी जाती हैं, सजावट की वस्तु नहीं होतीं. दुर्भाग्य है कि कांग्रेस की मानसिकता इतनी निकृष्ट हो चुकी है कि वे महिलाओं को सजावट की वस्तुएं मानने लगे. कमलनाथ के बंगाल में महिलाओं को सजावट की वस्तु माना जाता होगा, मध्यप्रदेश में ऐसा नहीं है.

मप्र: बुधनी में शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ अरुण यादव- थोपी गई उम्‍मीदवारी या सीएम को वाकओवर?

कांग्रेस ने पिछले सप्‍ताह गुरुवार को मध्‍य प्रदेश के लिए अपने प्रत्‍याशियों की अंतिम लिस्‍ट जारी की थी. इसमें सबसे चौंकाने वाला नाम पूर्व प्रदेश अध्‍यक्ष अरुण यादव का था जिन्‍हें मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ चुनावी मैदान में उतारा गया है. कांग्रेस ने भाजपा द्वारा टिकट से इंकार किए जाने के बाद पार्टी में आए पूर्व केंद्रीय मंत्री सरताज सिंह को होशंगाबाद से अपना उम्‍मीदवार बनाया है.