भोपालः मध्यप्रदेश में भारी वर्षा के कारण हुए व्यापक नुकसान को देखते हुए प्रदेश सरकार ने प्रदेश में शराब, पेट्रोल और डीजल पर पांच प्रतिशत वैट लगाने का फैसला किया है ताकि संकट से जूझने के लिए आवश्यक अतिरिक्त धन जुटाया जा सके. मध्यप्रदेश में हाल ही में हुई अत्यधिक वर्षा के कारण 12,000 करोड़ रुपये का अनुमानित नुकसान हुआ है.

भगवा वस्त्र पहनकर रेप किए जा रहे हैं, मंदिरों में बलात्कार हो रहे हैं, क्या यही हमारा धर्म है: दिग्विजय सिंह

एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि मध्य प्रदेश में डीजल, पेट्रोल और शराब की कीमत पर पांच प्रतिशत वैट लगाया गया है. उन्होंने कहा कि वर्तमान हालत से निपटने के लिये यह उपाय अस्थाई तौर पर लागू किया गया है. मध्य प्रदेश सरकार ने दलील दी कि हाल ही में भारी बारिश और बाढ़ से संपत्ति और फसल नष्ट होने के कारण बढ़ते वित्तीय बोझ से निपटने के लिये यह फैसला लिया गया है.

डिजिटल पेमेंट वालों को RBI ने दी राहत, फेल ट्रांजेक्शन पर रिफंड में हुई देरी तो मिलेगा हर्जाना

अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में बढ़ी हुई कीमतों को शुक्रवार आधी रात से लागू किया गया है. मध्य प्रदेश सरकार के इस फैसले के बाद अब पूरे प्रदेश में इसका जमकर विरोध देखने को मिल रहा है. पश्चिमी मध्यप्रदेश के आदिवासी झाबुआ जिले में आम लोगों का मानना है कि सरकार के इस निर्णय से आम आदमी पर भार बढ़ेगा. ट्रांसपोर्टेशन कास्ट बढ़ने से सामान की कीमत और अधिक होगी. इसके पहले सात जुलाई को पेट्रोल और डीजल पर केंद्र सरकार ने दो-दो और राज्य सरकार ने दो-दो रुपए प्रति लीटर का इजाफा किया था.