छतरपुर: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू है, फिर भी छतरपुर जिले में शनिवार को ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ की बैठक हुई और सरकारी योजनाओं का प्रचार किया गया. इस मौके पर बांटे गए साहित्य में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीरों के पैम्फलेट भी थे. इस मामले की कांग्रेस चुनाव आयोग से शिकायत करेगी. सोशल मीडिया पर पैम्फलेट की तस्वीरें वायरल हो रही हैं. ये पैम्फलेट शनिवार को जिलाधिकारी कार्यालय के सभागार में ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत सुपरवाइजरों की बैठक के दौरान बांटे गए थे.

MP: चुनावी पेंच में उलझी फिल्म इंडस्ट्री की हड़ताल, 400 सिनेमाघरों में सन्नाटा

इन पैम्फलेट पर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीरें हैं और योजनाओं का ब्यौरा है. इस तरह की सामग्री का वितरण आचार संहिता का उल्लंघन माना जा रहा है. वहीं, कांग्रेस की जिला इकाई ने कहा है कि छुट्टी के दिन महिला बाल विकास विभाग ने सुपरवाइजरों की बैठक बुलाई और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया जा रहा है. अधिकारियों द्वारा कर्मचारियों से प्रचार-प्रसार की सामग्री का वितरण कराया जा रहा है, जो आचार संहिता का पूरी तरह उल्लंघन है, और इस पर कार्रवाई के लिए निर्वाचन आयोग में शिकायत की जाएगी.

एमपी: भिंड के कलेक्टर आशीष कुमार को हटाया, धनराजू एस नए जिलाधिकारी

इस बैठक और सामग्री वितरण को लेकर जिलाधिकारी रमेश भंडारी से संपर्क की कोशिश की गई, उन्हें मोबाइल पर एसएमएस भी किया गया, लेकिन उनकी तरफ से अबतक कोई जवाब नहीं मिला है. इस बारे में जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी उदल सिंह व महिला बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी संजय जैन से भी संपर्क की कोशिश की गई, मगर कोई भी अधिकारी जवाब देने के लिए उपलब्ध नहीं हुआ.

मध्य प्रदेश चुनाव: वोटरों को जागरूक करने के लिए प्रशासन ने शराब की बोतलों पर लगवाए स्टिकर्स