Madhya Pradesh Lockdown Update: देश में कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है. कोरोना से बचाव के लिए ज्यादातर राज्यों में लॉकडाउन (Lockdown) जैसी पाबंदियां लागू हैं. लॉकडाउन की वजह से कोरोना के मामलों में कमी आई है, लेकिन स्थिति फिर से भयावह न हो इसलिए लॉकडाउन को बढ़ाया जा रहा है. मध्यप्रदेश में भी 17 मई को लॉकडाउन (MP Lockdown Extension News) खत्म हो रहा है, जिसे बढ़ाए जाने की उम्मीद है. उम्मीद की जा रही है कि लॉकडाउन को 24 मई तक के लिए बढ़ाया जा सकता है. बता दें कि राजधानी भोपाल में 24 मई वहीं, ग्वालियर व मुरैना चंबल संभाग में 30 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाया भी जा चुका है. Also Read - MP Unlock: शिवराज सरकार ने मध्यप्रदेश को कर दिया फुल अनलॉक, सब खुलेगा, बस लागू रहेंगी ये पाबंदियां, जानिए

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना की समीक्षा बैठक के बाद कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में हम सफल हो रहे हैं. पॉज़िटिविटी रेट 24% से घटकर 10.68% हो गया है कुछ जिलों में यह 5%के नीचे आ गया है. पॉजिटिव केस की संख्या लगातार कम हो रही है. शनिवार (15 मई) को 7,106 नए पॉज़िटिव केस आये और 12,345 लोग स्वस्थ हुए.

उन्होंने कहा कि अस्पतालों में बिस्तर और ऑक्सीजन समेत सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुदृढ़ हैं. किल कोरोना अभियान गांव-गांव में चल रहा है. ग्रामीण जनता से अनुरोध है कि अगर सर्दी, ज़ुकाम या बुखार हो तो छुपाएं नहीं, तत्काल बताएं ताकि हम आपको मेडिकल किट और इलाज की आवश्यकता हो तो वह भी उपलब्ध करा सकें.

शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने एक दिन पहले भी कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर घटी है, लेकिन अभी बिल्कुल भी ढिलाई नहीं करनी है. पूरी कड़ाई के साथ कोरोना के खिलाफ जंग लड़नी है. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी लंबे समय तक चल सकती है, ऐसे में हर व्यक्ति को कोरोना के प्रति जागरूक होना पड़ेगा. अपनी जीवनशैली बदलनी होगी. आगे भी मास्क लगाना, एक-दूसरे से दूरी रखना, भीड़ भरे आयोजन न करना आदि सावधानियां बरतनी होंगी. साथ ही योग, प्राणायाम, संतुलित आहार-विहार अपनाने होंगे.

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू के माध्यम से संक्रमण की कड़ी तोड़ने का कार्य किया जा रहा है तथा ‘किल कोरोना’ अभियान के माध्यम से मरीजों की पहचान कर उनकी जांच कर उनका इलाज किया जा रहा है. साथ ही प्रदेश में 18 वर्ष से ऊपर वालों तथा 45 वर्ष से ऊपर वालों का टीकाकरण भी किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक गरीब के लिए पांच माह के नि:शुल्क राशन की व्यवस्था की गई है. संकट प्रबंधन समूह यह सुनिश्चित कर लें कि उन्हें यह राशन मिल जाए.

उन्होंने कहा कि प्रदेश में संक्रमण निरंतर कम हो रहा है तथा कई जिलों में संक्रमण दर पांच प्रतिशत से भी नीचे आ गई है, फिर भी अभी कोरोना कर्फ्यू में ढिलाई नहीं दी जाएगी. हमें संक्रमण की कड़ी को पूरी तरह तोड़ना है. न्यूनतम संक्रमण वाले जिलों में संकट प्रबंधन ग्रुप आने वाले समय में कर्फ्यू खोलने के लिए फार्मूला बना लें. मालूम हो कि राज्य में 17 मई तक लॉकडाउन लगा हुआ है.