नई दिल्‍ली: मध्‍य प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण के जारी कहर के बीच भोपाल में पुलिस ने तबलीगी जमात के 64 सदस्‍यों समेत कई अन्‍य स्‍थानीय लोगों को गिरफ्तार किया है. उन लोगों के खिलाफ भी यह सख्‍त कदम उठाया गया है, जिन्‍होंने इन तबलीगी जमातियों के ठहराने और खाने-पीने का इंतजाम किया था. Also Read - क्या अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम की कोरोना से हुई मौत?, सोशल मीडिया में अटकलों का बाजार गर्म

भोपाल पुलिस के मुताबिक, तबलीगी जमात के 64 विदेशी सदस्‍यों, 10 भारतीय सदस्‍य जो संगठन से जुड़े हैं और 13 अन्‍य लोग, जिन्‍होंने इनके ठहरने के लिए इंतजाम किया था, उनके खिलाफ एफआरआई दर्ज की गई और अब उन्‍हें क्‍वारंटीन में रखा गया है. Also Read - राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा 10128, अब तक मृतक संख्‍या 219

भोपाल पुलिस ने कहा कि मध्य प्रदेश पुलिस ने तबलीगी जमात के 64 विदेशी सदस्यों, संगठन से जुड़े 10 भारतीयों, और 13 अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने भोपाल में अपने आवास की व्यवस्था की थी उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 188, 269, 270, आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 13, और धारा 14 की विदेशी अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है.

बता दें कि मध्‍य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 440 मामले सामने आए हैं, जिनमें इंदौर में 235 और भोपाल में 117 हैं. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में शुक्रवार को दो महिला डॉक्टरों सहित कोरोना वायरस के 14 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में कोविड-19 के मामलों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 440 हो गई. इंदौर में तीन और मरीजों की मौत, मृतक संख्या 26 पर पहुंच गई है. जिनमें इंदौर में 23 की मौत हो चुकी है और भोपाल में एक की मौत हुई है.

देश में कोरोना वायरस के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में शामिल इंदौर में इस महामारी की जद में आये तीन और मरीजों की मौत की शुक्रवार को आधिकारिक पुष्टि की गई. इसके साथ ही, शहर में इस संक्रमण के बाद दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 26 पर पहुंच गई है. इंदौर में 5, खरगोन में 2 और देवास में भी एक मरीज की जान चली गई है.