नई दिल्‍ली: कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण के चलते मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल की सड़कें आज बकरीद होने के बावजूद सूनी-सूनी नजर आईं. सड़कों पर वाहनों की आवाजाहीं नहीं दिखी, लोग सड़कों पर भी नजर आ रहे हैं. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में शनिवार को Eid Al Adah के मौके पर सड़कें सूनी रहीं. COVID-19 के कारण राजधानी में 10 दिन का लॉकडाउन लगा हुआ है. Also Read - पतंजलि आयुर्वेद से कोरोनिल के लिए हर दिन 10 लाख से ज्यादा पैकेट की हो रही मांग: बाबा रामदेव

वहीं, मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया, ”आज से ‘किल कोरोना पार्ट-2’ शुरू हुआ है इसमें सभी मंत्रियों, सांसदों, विधायकों पर सार्वजनिक कार्यक्रम करने पर 14 अगस्त तक का प्रतिबंध होगा. कोई भी राजनैतिक दल इस दौरान अपनी रैली, स​भा, प्रदर्शन नहीं कर सकेगा.”

भोपाल के जिला कलेक्टर अविनाश लवानिया ने कहा, “मैं लोगों का हमारे साथ सहयोग करने और उनके घरों पर त्योहार मनाने के लिए धन्यवाद देता हूं.”

भोपाल में पिछले कुछ दिनों से तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ती मरीजों की संख्‍या को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल नगर निगम इलाके में 24 जुलाई की रात से 4 अगस्त सुबह 8:00 बजे तक 10 दिन का लॉकडाउन लगा रखा है. इसके अलावा, प्रदेश के कुछ अन्य जिलों में भी सप्ताह में एक या दो दिन लॉकडाउन किया जा रहा है.

बता दें कि बीते 24 घंटे में मध्‍य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 10 मरीजों की मौत हो गई है और मध्य प्रदेश में अब तक 867 लोगों की मौत हुई है.

मध्यप्रदेश में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 838 नए मामले सामने आए थे और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से कल तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या 31,806 तक पहुंच चुकी थी.

मध्‍य प्रदेश में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण से सबसे अधिक 311 मौत इंदौर में हुई है. भोपाल में 176, उज्जैन में 74, सागर में 32, जबलपुर में 27, बुरहानपुर में 24, खंडवा में 19 एवं खरगोन में 17 लोगों की मौत हुई हैं. बाकी मौतें अन्य जिलों में हुई हैं.