इंदौर (मध्यप्रदेश): संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को संविधानविरोधी प्रावधान बताते हुए यहां भाजपा के एक मुस्लिम पार्षद ने पार्टी से 40 साल पुराना नाता तोड़ने की शनिवार को घोषणा की. शहर के वॉर्ड क्रमांक 38 से पार्षद उस्मान पटेल ने भाजपा की स्थानीय इकाई को भेजे पत्र में कहा कि वह पार्टी के सभी पद छोड़ रहे हैं. उन्होंने सोशल मीडिया पर वीडियो भी जारी किया. Also Read - बिहार विधान परिषद जाएंगे पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन, बीजेपी ने दिया एमएलसी का टिकट

  Also Read - TMC सांसद नुसरत जहां ने भाजपा को बताया दंगा कराने वाला, मुसलमानों को कहा- उल्टी गिनती शुरू..

पटेल ने वीडियो में कहा कि मैं पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी से प्रेरित होकर भाजपा में आया था. लेकिन अब भाजपा बदल गयी है और नफरत की राजनीति कर रही है. भाजपा नीत केंद्र सरकार का लाया गया सीएए, संविधान और मुस्लिमों के खिलाफ है. उन्होंने सीएए के खिलाफ शहर के अलग-अलग इलाकों में जारी आंदोलनों को समर्थन देने की घोषणा करते हुए कहा कि मैं अपने साथियों समेत भाजपा की प्राथमिकता सदस्यता से इस्तीफा देता हूं.

पिछले महीने भी 80 नेताओं ने छोड़ी थी सदस्यता
पटेल से पहले, सीएए के खिलाफ भाजपा के करीब 80 अन्य मुस्लिम नेताओं ने यहां पिछले महीने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता छोड़ने की घोषणा की थी.