नई दिल्लीः इस समय मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) की राजनीति में सियासी भूचाल मचा हुआ है किसी को भी कुछ नहीं समझ में आ रहा है कि आखिर अब राज्य में किसकी सरकार बनेगी. 20 मंत्रियों के इस्तीफे के बाद कांग्रेस की मुश्किलें बहुत अधिक बढ़ गई है. पार्टी लगातार मंत्रियों को मनाने की कोशिश कर रही है. इस बीच भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा(Narottam Mishra) ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया(Jyotiraditya Scindia) देश के एक बड़े नेता हैं और अगर वे पार्टी में शामिल होते हैं तो पार्टी उनका स्वागत करती है. Also Read - भाजपा अध्यक्ष ने कहा- लॉकडाउन में पैदल घर को निकले लोगों की मदद करें पार्टी कार्यकर्ता 

विधायकों के बेंगलुरू के जुड़े एक सवाल पर बड़े ही शायराना अंदाज में उन्होंने कहा कि ‘दुश्मनों के तीर खा कर दोस्तों के शहर में, उनको किस किस ने मारा यह कहानी फिर कभी.’ ज्योतिरादित्य सिंधिया पर उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी छोटे से छोटे कार्यकर्ता को भी पार्टी में शामिल करती है फिर तो सिंधिया जी देश के इतने बड़े नेता हैं और अगर वे भाजपा में शामिल होते हैं तो पार्टी और हर एक सदस्य उनका स्वागत करता है. Also Read - राहुल गांधी ने सरकार को सराहा, कहा- आर्थिक पैकेज की घोषणा सही दिशा में पहला कदम

आपको बता दें कि इससे पहले भाजपा नेता और पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि कि कांग्रेस के राजनीतिक संकट से भाजपा का कोई लेना देना नहीं हैं. उन्होंने इस सबका जिम्मेदार कांग्रेस पार्टी के अंदरूनी कलह को ठहराया. शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राज्य की सरकार गिराने में भाजपा का कोई इंट्रेस्ट नहीं है.

गौरतलब है कि सोमवार देर रात को मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार के सभी 20 मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सभी मंत्रियों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. अब पार्टी के बड़े नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और मंत्रियों को लगातार माने कि कोशिश में लगे हुए हैं. मध्य प्रदेश के राजनीतिक हालात पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोनिया गांधी से भी मुलाकात कर बात की है.