खरगोन: मध्य प्रदेश के खरगोन से मनरेगा में फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है. यहां झिरन्या जनपद पिपरखेड़ा नाका पंचायत के सरपंच और सचिव और रोजगार सहायक के जॉब कार्ड पर पुरुष की तस्वीरों के स्थान फिल्मी अभिनेत्रियों की तस्वीर लगाई गई है. बता दें कि अधिकारियों ऐसे दर्जनों खातों जॉब कार्ड पर फिल्मी अभिनेत्रियों की तस्वीरों को इस्तेमाल कर लाखों रुपये की राशि निकाली गई है. Also Read - क्या कंगना रनौत ने दीपिका पादुकोण पर किया कटाक्ष? इशारों में कह दी बड़ी बात 

इस मामले का खुलासा तब हुआ जब जॉब कार्ड के उचित हितधारकों को मनरेगा में काम करने की उनकी राशि नहीं मिली. जब उन्होंने ऑनलाइन इनक्वायरी की तो उनके कार्ड फर्जी पाए गए. कई हितधारकों के जॉब कार्ड पर अभिनेत्रियों व मॉडलों की तस्वीर लगाई थी. इन्हीं खातों से अबतक लाखों रुपये अधिकारियों द्वारा निकाले जा चुके हैं. Also Read - ड्रग्स मामले में Deepika Padukone से पूछताछ करने वाले NCB अधिकारी Coronavirus से संक्रमित

जी न्यूज की खबर के मुताबिक मोनू दुबे बताते हैं कि उनकी जॉब कार्ड पर बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की तस्वीर लगाकर उनके 30,000 रुपये निकाले जा चुके हैं. जबकि वे काम पर गए ही नहीं. वहीं सोनू नाम के शख्स ने बताया कि उनके जॉब कार्ड पर जैकलीन फर्नाडीज की तस्वीर लगाई गई है और उनके नाम पर भी राशि निकाली गई है. Also Read - Drug Case: अफवाह है दीपिका, श्रद्धा, सारा को क्लीन चिट दिए जाने की बात, NCB ने कहा...

पंचायत के लोगों का कहना है कि उन्हें मनरेगा में कोई काम नहीं मिला है, यहां लोग के मूलभूत सुविधाओं से वंचिता है. लेकिन ग्राम पंचायत के अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं. बता दें कि इस मामले के सामने आने के बाद जिला पंचायत सीईओ गौरव बेनल ने जांच के आदेश दे दिए हैं. साथ ही फर्जी जॉब कार्ड मामले की भी जांच की जाएगी.