मध्य प्रदेश: मध्य प्रदेश के मंत्री गोपाल भार्गव ने किसानों की आत्महत्या को लेकर बेहद ही शर्मनाक बयान दिया है. उन्होंने राज्य में किसानों द्वारा की जा रही आत्महत्या पर का कहा कि मौत तो विधायकों की भी होती है, क्या मौत पर किसी का जोर होता है. उन्होंने यह भी कहा की पिछले चार साल में राज्य के 10 विधायकों की मौत हो चुकी है.

गोपाल भार्गव मध्य प्रदेश के पंचायती राज मंत्री हैं.  किसानों के प्रति संवेदना व्यक्त करने के बजाय मंत्री ने यह हैरान करने वाला बयान दे डाला. उन्होंने कहा कि क्या विधायक अमर  हैं, मरना सभी को है. इसमें किसी का जोर नहीं चलता.

बीते वर्ष में मध्य प्रदेश में किसानों की आत्महत्या का आंकड़ा देखें, तो पता चलता है कि इस वर्ष खेती से जुड़े 760 लोगों ने जान दे दी.

तमाम मीडिया रिपोर्टो के आधार पर माना जा रहा है कि यहां सालभर में 266 किसान व खेतिहर मजदूरों ने खुदकुशी की. इनमें 184 ने फांसी लगाकर, 26 ने रेल से कटकर या कीटनाशक पीकर जान दी. वहीं शेष 56 में से कई तो ऐसे हैं, जिन्होंने आग लगाकर जान दे दी.