पन्ना (मध्य प्रदेश): कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी के कारण रोजगार पर गहराए संकट के बीच मध्य प्रदेश के पन्ना (Panna) जिले में अनंदी लाल कुशवाहा को 10.69 कैरेट का उच्च गुणवत्ता वाला हीरा मिला है. इसकी कीमत 50 लाख रुपये आंकी गई है. पन्ना जिले की पहचान हीरा नगरी के तौर पर है. सूत्रों के अनुसार, पन्ना के धाम इलाके के निवासी अनंदी लाल कुशवाहा ने अपने अन्य आठ साझेदारों के साथ मिलकर एक खदान का पट्टा लिया था, जिसमें खुदाई की जा रही थी. इसी दौरान उन्हें मंगलवार को मिट्टी और कंकड़ के बीच एक हीरा मिला. यह हीरा जेम क्वोलिटी का है. यह 10. 69 कैरेट का है. Also Read - प्लाज्मा दान करेंगे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, बोले- कोरोना वायरस पर जीत से कम कुछ नहीं चाहिए

खनिज अधिकारी एसएन पांडे ने बताया कि “अनंदी लाल को जो हीरा मिला है, उसे कार्यालय में जमा कराया गया है. इससे पहले इन्हें 70 सेंट का हीरा मिला था. वह भी कार्यालय में जमा है.” खनिज अधिकारी से जब इस हीरे की अनुमानित कीमत के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इसे बताने से यह कहते हुए इंकार कर दिया कि अनुमानित कीमत न बताने का प्रावधान है. Also Read - राज्य सरकार ने वापस लिया फैसला, अब कल से महाकाल मंदिर के दर्शन कर सकेंगे मध्य प्रदेश से बाहर के श्रद्धालु

अनंदी लाल का कहना है कि उसने अपने अन्य आठ साझेदारों के साथ मिलकर इस रानीपुर खदान क्षेत्र में पट्टा लिया और फिर हीरा खोजने का काम शुरू किया. उसे इसी माह एक हीरा मिला था और अब दूसरा हीरा मिला है. इससे होने वाली आय से वह और खदान पट्टे पर लेकर हीरा तलाश का काम करना चाहता है. Also Read - पीएम मोदी की फोटो से छेडछाड़ कर ट्वीट करने के मामले में कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी के खिलाफ दर्ज हुआ मामला

पन्ना में हीरा की तलाश के लिए खुदी खदानें पट्टे पर दिए जाने का प्रावधान है और यहां बड़ी संख्या में लोग हीरा खोजने का काम करते हैं. जो हीरा मिलता है, उसकी बाद में खनिज विभाग द्वारा नीलामी की जाती है. उसी के आधार पर हीरा मालिक को भुगतान किया जाता है.