अलीराजपुर: मध्य प्रदेश के अलीराजपुर जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूर सोंडवा में 15 वर्षीय लड़की का अपहरण कर उससे छेड़छाड़ करने के आरोप में एक पुलिस कांस्टेबल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. अलीराजपुर के पुलिस अधीक्षक विपुल श्रीवास्तव ने शनिवार को कहा, ‘‘सोंडवा पुलिस थाने के कांस्टेबल दिलीप जमरे (24) एवं उसके एक अज्ञात साथी के खिलाफ नाबालिग के अपहरण और छेड़छाड़ के आरोप में आईपीसी की धारा 363, 365 एवं 354 तथा पोक्सो एक्ट के तहत शुक्रवार को मामला दर्ज किया गया है.’’ Also Read - Coronavirus: मध्य प्रदेश में 19 नए मामले, इंदौर में 17 और लोग हुए संक्रमण का शिकार, राज्य में कुल 66 लोग संक्रमित

उन्होंने कहा कि गुरुवार को दिलीप अपने एक अन्य गैरपुलिस दोस्त (उम्र करीब 23 साल) के साथ सोंडवा के ही एक मोहल्ले में गया और थाने से एक मामले में पूछताछ करने एवं जानकारी जुटाने के लिए खुद को अधिकृत बताकर पूछताछ करने लगा. Also Read - मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से एक और मौत, प्रदेश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 47 हुई

श्रीवास्तव ने बताया कि पूछताछ के बाद दिलीप ने इसी मोहल्ले के एक घर से एक नाबालिग लड़की को अपने साथ चलने के लिए कहा. जब यह लड़की दिलीप के मोटरसाइकिल पर बैठ गयी, तो वह उसे थाने की बजाय अज्ञात जगह ले जाने लगा. इस पर पड़ोसियों को शक हुआ और उन्होंने दिलीप का पीछा करना शुरु किया. उन्होंने कहा कि यह देखकर दिलीप घबरा गया और लड़की को छोड़कर वहां से चला गया. लेकिन इस दौरान दिलीप ने लड़की की असहमति के बावजूद उसे गलत तरीके से छुआ था. Also Read - Coronavirus: इंदौर में ड्यूटी पर तैनात 3,000 पुलिसकर्मियों को परिवार से दूरी बनाए रखने की सलाह

उन्होंने कहा कि घटना के बाद पीड़िता और उसके परिजन ने थाने में कांस्टेबल दिलीप एवं उसके अज्ञात साथी के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी. प्रारंभिक जांच में शिकायत प्रथम-दृष्टया सही पाये जाने पर शुक्रवार देर शाम दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

श्रीवास्तव ने कहा कि मामला दर्ज होने के बाद आरोपी कांस्टेबल फरार हो गया. उसकी गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं. उसकी गिरफ्तारी के बाद ही उसके साथी के नाम का खुलासा होगा. उन्होंने बताया कि दिलीप को पुलिस ने किसी भी मामले की जांच के लिए नहीं भेजा था. उसने नाबालिग को ले जाने के उददेश्य से यह मनगढंत कहानी रची थी.