इंदौर: सक्रिय राजनीति में प्रियंका गांधी वाड्रा की आमद को लेकर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नेतृत्व क्षमता पर सीधे सवाल उठाया है. महाजन ने गुरुवार को इंदौर में मीडिकर्मियों से कहा, “प्रियंका अच्छी महिला हैं. मगर (पूर्वी उत्तरप्रदेश की प्रभारी कांग्रेस महासचिव के रूप में) उनकी नियुक्ति से यह बात भी सामने आती है कि राहुल ने एक प्रकार से स्वीकार कर लिया कि राजनीति करना उनके अकेले के बस की बात नहीं है.”

वरिष्ठ बीजेपी नेता ने कहा, “यह बहुत अच्छी बात है कि राहुल को समझ आ गया कि वह अकेले राजनीति नहीं कर सकते. इसलिए उन्होंने बहन प्रियंका को अपनी मदद के लिये बुला लिया.” महाजन ने कहा, “मैं कांग्रेस के परिवारवाद के झगड़े में नहीं पड़ती. यह विषय कांग्रेस के लोग ही जानें. लेकिन मैं यह जरूर कहूंगी कि जिस व्यक्ति में नेतृत्व की ताकत है, उसे आगे आने का मौका दिया जाना चाहिए.” उन्होंने मध्यप्रदेश से ताल्लुक रखने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी उत्तरप्रदेश का प्रभारी कांग्रेस महासचिव बनाए जाने पर बधाई दी.

लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, “पश्चिमी उत्तरप्रदेश का प्रभारी कांग्रेस महासचिव बनाकर सिंधिया को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है. मैं उनका अभिनंदन करती हूं, क्योंकि उन्हें यह जिम्मेदारी मिलना मध्यप्रदेश के लिए गौरव की बात है.” महाजन मध्यप्रदेश के इंदौर क्षेत्र की लोकसभा में साल 1989 से लगातार नुमाइंदगी कर रही हैं और वह 8 बार से लगातार सांसद हैं, जबकि सिंधिया सूबे की गुना सीट से सांसद हैं.