इंदौर: मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव जैसे- जैसे नजदीक आ रहा है चुनावी सरगर्मियां तेज हो रही हैं. आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी खूब जमकर चल रहा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अपने धार्मिक अवतार को लेकर भाजपा के निशाने पर हैं. लोकसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक अनुराग ठाकुर ने शनिवार को राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा. चुनावी दौरे पर यहां आए ठाकुर ने संवाददाताओं से कहा, ‘राहुल धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति होने का ढोंग कर रहे हैं.

जो हिंदू हित की बात करेगा, वह भारत पर राज करेगा !
कांग्रेस को पिछले 70 साल में कभी जनेऊ याद नहीं आया. लेकिन अब कांग्रेस अध्यक्ष मतदाताओं को ठगने के लिए अपना जनेऊ दिखा रहे हैं.” उन्होंने कहा, “कांग्रेस पहले हिंदू आतंकवाद और भगवा आतंकवाद की बात करती थी. लेकिन अब राहुल लगातार मंदिरों के चक्कर काट रहे हैं. इससे एक बात तो स्पष्ट हो गई है कि जो हिंदू हित की बात करेगा, वह भारत पर राज करेगा. लेकिन कांग्रेस हिन्दू हितों को लेकर दिखावा कर रही है.” गौरतलब है कि प्रदेश के चुनावी दौरों में राहुल धार्मिक वेश-भूषा में अलग-अलग मंदिरों में दर्शन-पूजन कर रहे हैं. पिछली बार वह 29 अक्टूबर को उज्जैन के महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में भगवान शिव की पूजा करते नजर आए थे.

नौकरी मांग रहे शिक्षक अभ्यर्थियों की पिटाई पर अखिलेश बोले- युवाओं का खून बहाना महंगा पड़ेगा

एक भी आंकड़ा याद नहीं रहता
अनुराग ठाकुर ने बैंकों से कर्ज लेकर विदेश भाग गए भगोड़ों के सवाल पर कहा, “विजय माल्या, मेहुल चोकसी और नीरव मोदी के बारे में राहुल सीना ठोंक कर कहते हैं कि ये लोग भारतीय बैंकों से हजारों करोड़ रुपये के कर्ज लेकर देश से भाग गए. लेकिन ये उद्योगपति पूर्ववर्ती यूपीए सरकार के राज में कांग्रेस के करीबी थे. तब इन्हें यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल के आशीर्वाद से ही ये कर्ज दिए गए थे.” हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर से लोकसभा सांसद ने तंज कसते हुए कहा, “राहुल इतने चकराये रहते हैं कि उन्हें एक भी आंकड़ा ठीक से याद नहीं रहता.”

बाबा विश्‍वनाथ के दर्शन कर बोले राजनाथ सिंह, ‘राम मंदिर बनेगा तो सबको होगी खुशी’

गुटबाजी की शिकार है कांग्रेस
अनुराग ठाकुर ने दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया सरीखे वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के बीच चुनावी टिकट वितरण को लेकर मतभेद की खबरों की ओर इशारा करते हुए मध्यप्रदेश के प्रमुख विपक्षी दल के भीतर भारी गुटबाजी का आरोप भी लगाया. उन्होंने कहा, सूबे में कांग्रेस राजा-महाराजा की लड़ाई में अब तक उलझी है. वह मुख्यमंत्री पद का चुनावी चेहरा तक तय नहीं कर सकी है. कांग्रेस के बड़े नेता पार्टी के अंदर ही अंदर एक-दूसरे पर बम फोड़ रहे हैं.” सूबे की 230 सीटों पर 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव होने हैं, जहां भाजपा लगातार चौथी बार सत्ता में आने के लिये एड़ी-चोटी का जोर लगा रही है. (इनपुट एजेंसी)