भोपाल: मध्य प्रदेश में चुनाव से पहले एक बार फिर भाजपा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को घेरने के लिए नेशनल हेराल्ड जमीन का मामला उठाते हुए कहा कि दशकों तक गांधी परिवार ने देश को लूटने का काम किया है. भोपाल में एमपीनगर जोन एक में प्रेस कॉम्पलेक्स इलाके में नेशनल हेराल्ड अखबार को आवंटित भूमि पर बनी व्यावसायिक इमारत के बाहर सड़क किनारे टेंट में शनिवार दोपहर पत्रकार वार्ता करते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ” मेरे पीछे यह जो व्यावसायिक इमारत है, वह विराट भ्रष्टाचार का स्मारक है. यह मैं ऐसे ही नहीं कह रहा हूं, बल्कि दस्तावेजों के आधार पर कह रहा हूं.” उन्होंने कहा कि भोपाल, इंदौर सहित अन्य शहरों में नेशनल हेराल्ड की एसोसिऐटेड जर्नल लिमिटेड (एजेएल) कंपनी को बहुत कम कीमत पर अखबार संबंधित उपयोग के लिए जमीन दी गई थी, लेकिन इस जमीन पर व्यावसायिक इमारत बना दी गई.

मध्य प्रदेश के 19 विधायकों ने नहीं दिया पैन कार्ड का ब्यौरा, 8 के ब्यौरे में असमानता

बीजेपी प्रवक्‍ता पात्रा ने कहा कि देश भर के अलग अलग शहरों में लगभग 5,000 करोड़ रुपए की संपत्ति को भ्रष्टाचार करके सोनिया गांधी और राहुल गांधी की कंपनी यंग इंडिया ने सस्ते दामों में 2008 में खरीद लिया. अब इसका इस्तेमाल व्यावसायिक रूप में किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि एजेएल और यंग इंडिया दोनों कंपनियों के संचालक मंडल में सोनिया गांधी और राहुल गांधी शामिल हैं, लेकिन यंग इडिया कंपनी का 76 प्रतिशत हिस्सा सोनिया और राहुल गांधी का है.

कम्प्यूटर बाबा की हुंकार, कहा- शिवराज की धर्म विरोधी सरकार को जड़ से उखाड़ फेंकें

बीजेपी प्रवक्‍ता पात्रा ने कहा कि नेशनल हेराल्ड केस में सोनिया गांधी आरोपी नंबर एक और राहुल गांधी आरोपी नंबर दो हैं और दोनों ही 50,000 के मुचलके पर बाहर घूम रहे हैं. पात्रा ने कांग्रेस अध्यक्ष गांधी पर ये आरोप ऐसे वक्त लगाये हैं जब गांधी मध्यप्रदेश के अपने चुनावी दौरों में लगातार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमले कर रहे हैं और राफेल जेट सौदे में प्रधानमंत्री पर चौकीदार चोर है जैसे तंज कस रहे हैं.

पुणे पुलिस ने रात में की सुधा भारद्वाज की सूरजकुंड से गिरफ्तारी

भाजपा प्रवक्ता पात्रा ने आरोप लगाया, ”कई वर्षो से गांधी परिवार ने देश को लूटने का काम किया है.” गांधी परिवार पर पात्रा के इन आरोपों पर संवाददाताओं ने जब पूछा कि राज्य में भाजपा के 15 साल के शासन के दौरान इस पर कार्रवाई क्यों नहीं की गई तो पात्रा ने बताया कि भोपाल विकास प्राधिकरण (बीडीए) ने इस मामले में बेदखली का नोटिस जारी किया था और अब मामला अदालत में है.

सुप्रीम कोर्ट ने 5 कार्यकर्ताओं की रिहाई वाली रोमिला थापर की रिव्‍यू पिटीशन खारिज की 

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा, ”सार्वजिनक स्थान घेरकर सड़क पर बिना अनुमति पत्रकार वार्ता करने के लिए पात्रा के खिलाफ चुनाव आयोग के पास कांग्रेस शिकायत करेगी. इसके साथ ही इस मामले में हम भाजपा प्रवक्ता के खिलाफ पुलिस में भी शिकायत कर रहे हैं.”

आईआरएस अधिकारी एसके मिश्रा ईडी प्रमुख बने, लेंगे करनाल सिंह की जगह