भोपाल: मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के कैबिनेट का विस्तार होने वाला है. गुरुवार को राजभवन में 11 बजे शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया जाएगा. इस दौरान 24-25 विधायक मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं. खबरों की मानें तो शिवराज सरकार में मंत्रीपद के लिए 40-45 भाजपा नेता दावेदारी ठोक रहे हैं. लेकिन उपमुख्यमंत्री की कुर्सी को मिलाकर बात करें तो कुल 24-25 नेताओं को ही मंत्री पद दिया जा सकता है. Also Read - बच्चों ने CM को लिखा पत्र, स्वास्थ्य-शिक्षा की खोल दी पोल, पढ़ें Letters

गौरतलब है कि इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत को पहले ही कैबिनेट में जगह दी जा चुकी है. आशंका जताई जा रही है कि इस बार सिंधिया के 7-8 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी. खबरों की मानें तो सिंधिया खेमें से ही किसी एक विधायक को मध्य प्रदेश का डिप्टी सीएम बनाया जाएगा. Also Read - प्लाज्मा दान करेंगे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, बोले- कोरोना वायरस पर जीत से कम कुछ नहीं चाहिए

बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने चहेते विधायक तुलसी सिलावट को कांग्रेस सरकार में भी उपमुख्यमंत्री बनवाना चाहते थे. लेकिन कमलनाथ सरकार में सिंधिया का यह सपना पूरा न हो सका. बता दें कि मध्य प्रदेश में कमलनाथ की सरकार गिराने में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अहम योगदान दिया है. साथ ही सिंधिया के साथ उनके 22 विधायकों ने भी कांग्रेस पार्टी से किनारा कर लिया और भाजपा में शामिल हो गए. इसके बाद शिवराज सिंह चौहान वापस मध्य प्रदेश की राजनीति में एंट्री कर पाए. यही कारण है कि आशंका जताई जा रही है कि सिंधिया समर्थक को ही डिप्टी सीएम बनाया जाएगा. Also Read - राज्य सरकार ने वापस लिया फैसला, अब कल से महाकाल मंदिर के दर्शन कर सकेंगे मध्य प्रदेश से बाहर के श्रद्धालु