भोपाल: मध्य प्रदेश विधानसभा के लिए होने वाले मतदान से ठीक एक दिन पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने परिवार के सदस्यों के साथ मंगलवार को यहां टी टी नगर इलाके स्थित इंडियन कॉफी हाउस में गये. उन्होंने वहां वडा-सांबर का स्वाद लेने के साथ-साथ गरम-गरम कॉफी पी. शिवराज का अंदाज ऐसा था मानों मतदाताओं को यह संदेश दे रहे हों कि वह चुनाव परिणाम के बारे में बेफिक्र हैं. हालांकि, 2013 में भी इसी तरह वोटिंग से एक दिन पहले शिवराज टीटी नगर आए थे और नतीजे आने के बाद वे लगातार तीसरी बार प्रदेश के मुख्‍यमंत्री बने थे. अब ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि एंटी इंकम्‍बेंसी और बागियों से जूझ रहे शिवराज का यह दांव जीत के लिए उनका आत्‍मविश्‍वास है या फिर वे अब टोटके के ही सहारे हैं. Also Read - यूपी के मंत्री ने कहा- कांग्रेस ने भ्रम फैलाकर पाया वोट, पछता रहे हैं मध्यप्रदेश के लोग

Also Read - एमएनएफ के प्रमुख जोरमथंगा ने ली मिजोरम के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ

‘मामा‘ के नाम से लोकप्रिय 59 वर्षीय चौहान 13 साल से प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं. भाजपा ने इस बार भी उन्हें अपनी पार्टी का मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित किया है. इंडियन कॉफी हाउस के मैनेजर बताया कि मुख्यमंत्री चौहान अपनी पत्नी साधना सिंह एवं बेटे कार्तिकेय के साथ मंगलवार शाम हमारे कॉफी हाउस में आये और उन्होंने वडा-सांबर खाया और गरम-गरम कॉफी पी. उन्होंने कहा कि इस दौरान मुख्यमंत्री आम लोगों की तरह हंसते नजर आये और हमारे द्वारा पकाये गये इन व्यंजनों का आनंद लेते रहे. कुमारन ने बताया कि वह एक घंटे से अधिक समय तक कॉफी हाउस में रहे. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने बाद में 300 रुपये के अपने बिल का भुगतान भी किया. Also Read - सवाल- केंद्र की राजनीति में जाने वाले हैं? 15 साल मुख्यमंत्री रहे रमन सिंह का जवाब- 'यहीं हूं मैं'

MP Assembly Election 2018: पीएम मोदी, राहुल गांधी ने की सभाएं, पर शिवराज-सिंधिया ही रहे स्टार प्रचारक

चौहान ने वहां मौजूद पत्रकारों से कहा कि उन्हें पूरा यकीन है कि मध्य प्रदेश में लगातार चौथी दफा भाजपा सत्ता में आयेगी. इस चुनाव में चौहान ने प्रदेश के विभिन्न भागों में कुल 154 आम सभाओं को सम्बोधित कर भाजपा प्रत्याशियों को जिताने के लिए मतदाताओं से अपील की. संभवत: चौहान से अधिक किसी अन्‍य राजनेता ने प्रदेश में इतनी सभाएं नहीं की हैं.

मप्र विधानसभा चुनाव: मतदान के एक दिन पहले राहुल ने वोटर्स को लिखी चिट्ठी, ‘हम देंगे अच्‍छी सरकार’

वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव के लिए हुए मतदान से ठीक एक दिन पहले भी चौहान अपने परिवार के सदस्यों के साथ शहर के मध्य स्थित इसी टी टी नगर में गये थे और फुल्कियां (पानी-पूरी) खाई थी. उस दौरान वह खचाखच भरे बाजार में लोगों के बीच काफी देर तक मुस्कुराते भी नजर आए थे. तब चुनाव परिणाम आने पर उनकी पार्टी मध्य प्रदेश में 230 सीटों में से 165 सीटों पर जीत कर लगातार तीसरी बार सत्ता में आई थी.