नई दिल्ली: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह रविवार के दिन दिल्ली पहुंचे. इस दौरान वह पार्टी के कई शीर्ष अधिकारियों संग मुलाकात करेंगे. आशंका जताई जा रही है कि इस दौरान शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल के नामों की सूची पर पार्टी हाईकमान की मुहर लग सकती है. शिवराज सिंह चौहान के साथ मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महासचिव सुहास भगत भी दिल्ली के लिए रवाना हुए थे. Also Read - MP Lockdown Update: मध्यप्रदेश में लॉकडाउन का बढ़ना तय! क्या बोले CM शिवराज; जानें ताजा अपडेट...

दिल्ली में तीनों नेताओं को भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष, नरेंद्र सिंह तोमर, ज्योतिरादित्य सिंधिया और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व पार्टी के अन्य बड़े नेताओं से मिलने की उम्मीद है. शिवराज सिंह चौहान ने इस बाबत कहा कि दिल्ली में सभी शीर्ष नेताओं से मिलने के बाद मेरे कैबिनेट का विस्तार होगा. Also Read - Corona Pandemic: PM मोदी ने 4 राज्‍यों के मुख्यमंत्रियों से कोविड-19 की स्थिति पर की बात

बता दें कि मध्यप्रदेश मंत्रिमंडल में फिलहाल 5 मंत्रियों को ही शपथ दिलाई गई है. इन्हीं के सहारे मध्यप्रदेश को 21 अप्रैल से चलाया जा रहा है. बता दें कि इससे पहले कई बार शिवराज सिंह चौहान दिल्ली पर दौरे पर आने वाले थे लेकिन उनका दौरा कई बार टल चुका है. माना जा रहा था कि वह रविवार को भी दिल्ली नहीं जाते लेकिन कार्यक्रमों में बदलाव किया गया और वो दिल्ली रवाना हो गए. Also Read - Bhopal Lockdown Update: भोपाल में भी एक हफ्ते बढ़ाया गया लॉकडाउन, अब 24 मई तक पाबंदी

मंत्रिमंडल में विस्तार न होने का एक कारण मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का अस्वस्थ होना भी है. लालजी टंडन का लखनऊ के अस्पताल में इलाज चल रहा है. ऐसे में बगैर राज्यपाल के मंत्रिमंडल का विस्तार कैसे संभव है. हालांकि इस बीच यह चर्चा भी जोरों पर है कि छत्तीसगढ़ के राज्यपाल को अतिरिक्त प्रभार दे दिया जाए. वह लालजी टंडन के स्वस्थ होने तक राज्यपाल का काम संभालें