नई दिल्ली: मध्यप्रदेश में शिवराज मंत्रिमंडल के विस्तार के दो दिन बाद भी मंत्रियों के बीच विभागों का बंटबारा नहीं हो पाया है. इसी चर्चा के बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को दिल्ली पहुंचे. दिल्ली में उनका पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ राज्य के अलग अलग मुद्दों पर कई केन्दीय मंत्रियों से मिलने का कार्यक्रम है. इसी क्रम में शिवराज सिंह चौहान केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिह से मिलने पहुंचे. Also Read - Delhi-NCR में अरबों का हवाला, ऑपरेटर लुओ सांग फर्जी पासपोर्ट के साथ अरेस्‍ट, चीनी खुफिया एजेंट होने का शक

रक्षा मंत्री से मुलाकात के बाद शिवराज सिंह ने मंत्रिमंडल विस्तार के बाद मीडिया में चल रही अटकलों पर विराम लगाने की कोशिश की. उन्होंने कहा, “मंत्रिमंडल विस्तार के बाद विभागों को लेकर चल रही अटकलों की मुझे जानकारी है. भोपाल पहुंचने के बाद इस पर घोषणा करेंगे.” Also Read - कांग्रेस प्रवक्‍ता राजीव त्‍यागी का कॉर्डियक अरेस्‍ट से अचानक निधन, राहुल गांधी बोले- पार्टी ने अपना एक बब्बर शेर खो दिया

केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा, “मध्यप्रदेश में डीआरडीओ को जमीन राज्य सरकार ने दी है. उस समय ही ग्वालियर में सैनिक स्कूल खोलने की बात हुई थी. इसके बारे में चर्चा हुई है. ग्वालियर, चंबल संभाग से काफी संख्या में लोग फौज में जाते हैं. स्कूल खुलने के बाद इस क्षेत्र के लोग सेना में अफसर भी बन सकेंगे.” Also Read - वाह क्या बात है: इंदौर के मुस्लिम परिवार में है 'कृष्णा', जन्माष्टमी पर हुआ था जन्म...

इस बीच मध्यप्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार के दो दिन बीत जाने के बावजूद विभागों को लेकर पार्टी में आम राय नहीं बन पाई है. माना जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया सरकार में अपने समर्थकों को अच्छे और प्रभावी विभाग दिलवाना चाहते हैं. इधर, मुख्यमंत्री अपने चहेतों को बढ़िया विभाग सौंपना चाहते हैं. इस बीच संगठन कुछ मंत्रियों को बेहतर विभाग देकर उनकी हैसियत और अहमियत बढ़ाना चाहता है.

इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को दिल्ली आने वाले थे, लेकिन अचानक देर शाम यह यात्रा टल गई थी.