भोपाल: मध्य प्रदेश में भाजपा द्वारा सरकार बनाने की कवायद तेज हो गई है. विधायकों की आज शाम छह बजे पार्टी के प्रदेश कार्यालय में बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में पार्टी के नए नेता का चयन होगा और उसके बाद शाम सात बजे राजभवन में शपथ ग्रहण भी हो सकता है. भाजपा के पर्यवेक्षक दिल्ली से वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए विधायकों से बात कर सकते हैं. Also Read - मध्य प्रदेश में शराब की लत के शिकार 30 वर्षीय पुरुष समेत दो मरीजों की मौत, कोरोना के 22 नये मामले

पार्टी सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री पद के दो बड़े दावेदार हैं. एक पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, और दूसरे केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर. लेकिन चौहान बहुसंख्यक विधायकों की पसंद हैं. इसलिए चौहान के मुख्यमंत्री बनने की संभावना अधिक है. Also Read - डॉक्टर ने कार को बनाया घर, कुछ यूं कर रहे मरीज़ों का इलाज, लोग बोले- ऐसे कोरोना फाइटर्स को सलाम

ज्ञात हो कि कांग्रेस के 22 विधायकों के बगावत करने और सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस सरकार अल्पमत में आ गई, और मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 20 मार्च को पद से इस्तीफा दे दिया. उसके बाद से राज्यपाल के कहने पर कमलनाथ कार्यवाहक मुख्यमंत्री के तौर पर काम कर रहे हैं. Also Read - भोपाल में हिस्‍ट्रीशीटरों समेत उपद्रवियों की भीड़ ने पुलिस पर किया हमला

भाजपा सूत्रों का कहना है कि कोरोनावायरस के संक्रमण के चलते राज्य के लिए स्थाई सरकार की जरूरत है. इसलिए भाजपा ने शाम छह बजे विधायक दल की बैठक बुलाई है. सभी विधायकों को अकेले पार्टी दफ्तर आने को कहा गया है, और कोई भी विधायक समर्थकों के साथ नहीं आएगा. पार्टी हाईकमान द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षक दिल्ली से वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए विधायकों से संवाद करेंगे. उसके बाद ही नए नेता के नाम का ऐलान होगा.

सूत्रों का कहना है कि आज रात सात बजे ही नए मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण हो सकता है. इसकी तैयारी राजभवन में जारी है.

(इनपुट आईएएनएस)