उज्जैन: मध्य प्रदेश में सत्ता से हटते ही भाजपा नेताओं और उनके रिश्तेदारों की हत्या का दौर शुरू हो गया है, जो थमने का नाम नहीं ले रहा है. ताजा मामला उज्जैन जिले के नागदा थाने का है, जहां भाजपा नेता की भाभी की धारदार हथियार से हमलाकर हत्या कर दी गई है. हत्या की वजह का खुलासा अभी नहीं हो पाया है.

एमपी में फिर एक और BJP लीडर का मर्डर, सुबह घूमने निकले भाजपा नेता का मिला शव

भारतीय पुलिस सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी रजत सखलेचा ने बताया कि शुक्रवार की देर शाम को नागदा थाने के आमलोदिया गांव में भाजपा नेता लाल सिंह आंजना की भाभी सीता बाई की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई. उनके शरीर पर धारदार हथियार से वार के कई निशान पाए गए हैं. सखलेचा के अनुसार, हत्या की वजह क्या है और किसने की है, इसका खुलासा अभी नहीं हो पाया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

लखनऊ में BJP नेता की हत्‍या, गुस्‍साए भाजपाइयों का अस्‍पताल में हंगामा

इससे पहले मंदसौर में भाजपा नेता व नगरपालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गोली मारकर हत्या की गई थी. उसके बाद बड़वानी जिले में मनोज ठाकरे की पत्थर से कुचलकर हत्या कर दी गई थी. इसके अलावा रतलाम जिले के बिलपांक थाना क्षेत्र के कमेड़ गांव में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के हिम्मत पाटीदार की हत्या कर दी गई थी. सत्तारूढ़ कांग्रेस इन हत्याओं की वजह आपसी रंजिश और भाजपा के अंदरूनी मामले बताती रही है.