इंदौर: उज्जैन में महाकाल के दर्शन करके बाबा विश्वनाथ का दर्शन करने की इच्छा रखने वालों के लिए अच्छी खबर है. मध्य प्रदेश के उज्जैन को उत्तर प्रदेश के वाराणसी से जोड़ने के लिए एक विशेष रेलगाड़ी चलाई जाएगी. यह घोषणा यहां रविवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने की है. इस गाड़ी का संचालन आईआरसीटीसी के द्वारा किया जाएगा. Also Read - Nathuram Godse की मूर्ति लगाने में शामिल रहे Hindu Mahasabha के नेता ने ज्‍वाइन की Congress, एमपी में सियासत गर्माई

  Also Read - Tandav: Amazon को HC की फटकार- देवी-देवताओं का मजाक अभिव्यक्ति नहीं, जमानत याचिका खारिज

रविवार को उज्जैन में बाबा महाकाल के दर्शन करने के बाद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने संवाददाताओं से कहा कि बाबा महाकाल की नगरी को काशी विश्वनाथ की नगरी से जोड़ने के लिए एक विशेष ओवर नाइट गाड़ी चलाई जाएगी. इसके लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं. यह गाड़ी इंदौर से चलेगी. यह गाड़ी सर्वसुविधा युक्त होगी. इस गाड़ी का संचालन आईआरसीटीसी के द्वारा किया जाएगा. उन्होंने कहा कि देश में इंदौर की पहचान सबसे स्वच्छ शहर की है. प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी की पहचान ऐतिहासिक नगरी की है. इन दोनों स्थानों को जोड़ने के लिए चलाई जाने वाली यह गाड़ी उज्जैन और काशी को जोड़ने का काम करेगी. इससे पर्यटकों को वाराणसी से इंदौर आना आसान होगा.

बाबा महाकाल की विशेष पूजा करने के बाद चाय-पोहे का भी लुत्फ उठाया
गोयल ने उज्जैन में बाबा महाकाल की विशेष पूजा करने के बाद चाय-पोहे का भी लुत्फ उठाया. इसके बाद उन्होंने ट्वीट किया कि आज अपने उज्जैन प्रवास के दौरान स्थानीय लोगों से मिलने का अवसर मिला. उनके अपनेपन और स्नेह से अभिभूत हूं. उनके द्वारा इंदौर के प्रसिद्घ पोहे और चाय के आग्रह पर सभी के साथ इसका आनंद लिया.